close
मध्य प्रदेश

पन्ना टाइगर रिजर्व में दर्दनाक हादसा.. हाथी ने रेंजर को मार डाला

  • पन्ना टाइगर रिजर्व में दर्दनाक हादसा..

  • हाथी ने रेंजर को मार डाला

  • टाइगर ट्रैकिंग के दौरान हुई घटना…

पन्ना – मध्यप्रदेश के पन्ना टाइगर रिजर्व के एक रेंज ऑफिसर को टाइगर ट्रैकिंग के दौरान एक क्रुद्ध हाथी ने मार डाला है हिनौता रेंज की गंगा क्षेत्र में यह रेंजर टाइगर ट्रैकिंग का काम कर रहे थे तभी अचानक रेंज के हाथी राम बहादुर को गुस्सा आ गया और उसने पटक कर अपने दांत इनके सीने में गड़ा दिए जिससे रेंजर भगत की मौके पर ही मौत हो गई ।

2012 से पन्ना टाइगर रिजर्व में रेंज अधिकारी पद पर पदस्थ बीआर भगत छत्तीसगढ़ के मूल निवासी थे उनके एक पुत्र परिवार के सदस्य यही रह रहे थे जब पन्ना से बाघ पूरी तरह खत्म हो गए और पुनः बाघों को बसाने की जिम्मेदारी मिली तो मैदानी क्षेत्र में कर्मठ और दिन रात मेहनत करने वाले अधिकारियों में भगत की भूमिका अहम रही थी आज इन जैसे कर्मचारियों के कारण ही पन्ना टाइगर रिजर्व में 50 से अधिक टाइगर है ।

पन्ना टाइगर रिजर्व के डायरेक्टर ने बताया कि जब ट्रेकिंग के लिए रेंजर भगत हाथी पर सवार हो रहे थे तो साथी कर्मचारियों को बाहर से सेट दे रहे थे तभी टाइगर ने उन्हें सूंड से मारकर नीचे गिरा दिया और अपने दांत उनके शरीर मे गड़ा दिये जिससे उनकी मौत हो गई।

इस घटना से रिजर्व के उनके सभी साथी कर्मचारी और अधिकारियों ने इस दुखद मौत पर शोक जताया है कहां टाइगर रिजर्व की नही यह हमारी व्यक्तिगत क्षति हुई है।इस घटना के बाद से पन्ना टाइगर रिजर्व में शोक का माहौल है।

रेंजर भगत का पोस्टमार्टम पन्ना जिला चिकित्सालय में कराया गया और इसके बाद अंत्येष्टि के लिए उन्हें छत्तीसगढ़ भेजा जा रहा है यह पहली घटना है जब किसी अधिकारी ने वन्य प्राणियों की सुरक्षा में अपनी जान गवाई है इससे सभी लोग दुखी हैं

ज्ञात हो कि 2009 में पन्ना से बाघ जब पूरी तरह खत्म हो गए थे बाहर से लाकर यहां के वन क्षेत्र में बाघों को बसाने के प्रयास शुरू किये गये थे अब यहां बाघों की 50 से अधिक संख्या है लेकिन बीते 7 माह में 5 बाघों की मौत और अभी हाल में मेटिंग के दौरान घायल बाघ को खोजने में ही भगत लगे हुए थे इसी कोशिश में उन्हें अपनी जान से हाथ धोना पड़ा।

Leave a Response

error: Content is protected !!