close
hospital

ग्वालियर– ग्वालियर चंबल अंचल में स्वाइन फ्लू का असर कम होने की बजाय बढ़ता जा रहा हैं। सात मौतों के बावजूद अस्पताल प्रशासन अपने स्टाफ कस पूर्ण रूप से टीका करण नहीं करवा सका है। यही कारण है कि निशचेतना विभाग के विभागाध्यक्ष डाॅ. हेमंत चैरसिया भी स्वाइन फ्लू की चपेट में आ गये है। ग्वालियर चंबल अंचल में अब तक 60 मरीजों के सेंपल डी आर डी ई की लैब में जांच के लिए भेजे गये थे इनमें 22 मामलों में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई है ग्वालियर के चार और अंचल के तीन मरीजों की मौत स्वाइन फ्लू से हो चुकी है स्वास्थ्य विभाग अब तक सिर्फ लोगों से सचेत रहने को आगाह कर रहा हैं।

hospital2

उमस भरे मौसम में स्वाइन फ्लू के बढ़ते प्रकोप के बाद भी स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग ने इससे निपटने के कोई ठोस इंतजाम नहीं किए हैं। उल्लेखनीय है कि बरसात के मौसम में अस्पताल के स्टाफ को स्वाइन फ्लू से बचाव के लिए टीके लगवाना चाहिए। जेएएच प्रशासन ने महज 15 डॅाक्टर व कर्मचारियों को यह टीका लगवाया। जिला अस्पताल में तो किसी को भी टीका नहीं लगा हैं।

Alkendra Sahay

The author Alkendra Sahay

A Senior Reporter

Leave a Response

error: Content is protected !!