close
महाराष्ट्रमुंबई

फिल्मों के सूरमा भोपाली नही रहे

  • फिल्मों के सूरमा भोपाली नही रहे…

  • मध्यप्रदेश के दतिया में हुआ था जन्म जगदीप का…

मुंबई-वॉलीवुड के जाने माने हास्य अभिनेता और सूरमा भोपाली के नाम से विख्यात कॉमेडियन जगदीप का 81 वर्ष की आयु में निधन हो गया वे लंबे समय से बीमार थे ।फ़िल्म इंड्रस्ट्री में हाल में यह पांचवी मौत हैं।

मध्यप्रदेश के दतिया में 29 मार्च 1939 को जन्में जगदीप का असली नाम सैयद इश्तियाक अहमद जाफरी था इनके पिता याबर हुसैन जाफरी दतिया म्यूनिसपैलिटी में वकील थे जगदीप के दो भाई और थे इनकी एक बड़ी बहन थी जिनका विवाह मुंबई के रहने वाले महमूद अली से हुआ था जो फिल्मों के लिये एक्स्ट्रा कलाकार और लेबर सप्लाई करते थे|

जगदीप छोटी उम्र में बहन के पास मुंबई जा पहुंचे और उनके जीजाजी के प्रयास से उन्हें फ़िल्म अफसाना में बाल कलाकार की भूमिका मिली उंसके बाद कॉमेडियन के रूप में जगदीप ने दो बीघा जमीन फिल्म से डेब्यू किया। वही 1975 में आई शोले में उनके सूरमा भोपाली के अभिनय ने उन्हें टॉप पर पहुंचाया|

इसके अलावा अपना देश,अंदाज नगीना चायना गेट प्रतिज्ञा निगाहें कुछ उनकी कुछ प्रसिद्ध फिल्में थी जबकि ब्लैक एंड व्हाइट पारिवारिक फ़िल्म भाभी में जगदीप हीरो थे और हीरोइन थी नंदा।

जैसा कि फ़िल्म इंड्रस्टी से हाल में फ़िल्म अभिनेता इरफान खान  ऋषि कपूर सुशांत सिंह राजपूत और सुप्रसिद्ध कोरियोग्राफर सरोज खान जैसी हस्तियां दुनिया छोड़ कर जा चुकी हैं और कल बुद्धवार को प्रसिध्द हास्य अभिनेता जगदीप भी दुनिया से रुखसत हो गये।

जगदीप के दो बेटों में बड़े है वॉलीवुड अभिनेता जावेद जाफरी और छोटे बेटे हैं नावेद जाफरी जो टीवी फ़िल्म निर्माता हैं। खास बात है अंतिम दिनों में जगदीप उर्फ इश्तियाक की दिली तमन्ना थी कि वे अपने जन्म स्थल दतिया आये लेकिन स्वास्थ्य कारणों के चलते वे दतिया नही आ सके और उनकी यह इच्छा अधूरी रह गई। जबकि उनका पुश्तेनी मकान आज भी दतिया की कारस देव की गली में है जहां उनके परिजन और रिश्तेदार रहते हैं।

इस तरह हम सभी के दिल पर एक अमिट छाप छोड़कर जगदीप तो चले गये लेकिन उनकी फ़िल्म भाभी का एक गाना आज खुद ब खुद उनकी याद दिलाता हैं “चल उड़जा रे पंछी कि अब ये देश हुआ बेगाना – किस को पता है इस नगरी में कब हो तेरा आना” चल उड़जा…

Leave a Response

error: Content is protected !!