close
राजस्थान

राजस्थान की विधायक किरण माहेश्वरी नही रही कोरोना से निधन, पीएम ने दुख जताया

kiran Maheshwari
kiran Maheshwari
  • राजस्थान की विधायक किरण माहेश्वरी नही रही कोरोना से निधन, पीएम ने दुख जताया

उदयपुर – राजस्थान के राजसमंद से विधायक एवं बीजेपी की कद्दावर नेता किरण माहेश्वरी का दुखद निधन हो गया वे कोरोना संकमण से पीड़ित थी राजस्थान में कोरोना से यह दूसरे विधायक की मौत है, किरण माहेश्वरी दो बार विधायक और एक बार सांसद भी रही। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उनके निधन पर शोक जताया हैं।

राजस्थान के राजसमंद से बीजेपी की विधायक किरण माहेश्वरी पिछले एक माह पूर्व कोरोना संक्रमित हुई थी और हालात बिगड़ने पर उन्हें इलाज के लिये गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां आज उन्होंने अंतिम सांस ली उनके निधन से राजस्थान और बीजेपी में शोक व्याप्त हों गया है।

मध्यप्रदेश के रतलाम में 29 अक्टूबर 1961 में जन्मी किरण माहेश्वरी का विवाह 1981 में उदयपुर के सत्यनारायण माहेश्वरी से हुआ था। बीजेपी में सक्रिय होने के बाद वे 1994 में पार्षद बनी और उसके बाद उन्होंने उदयपुर का मेयर पद सम्हाला, 2004 में वे उदयपुर – राजसमंद से सांसद चुनी गई उन्होंने उस समय की काँग्रेस की दिग्गज नेता गिरिजा व्यास को पराजित किया था। 2009 में वे अजमेर से सांसद का चुनाव लड़ी लेकिन कांग्रेस के सचिन पायलट से चुनाव हार गई थी। 2013 और 2018 में किरण माहेश्वरी राजसमंद से विधायक बनी 2013 में वे वसुंधरा सरकार में उच्च शिक्षा मंत्री रही।

जहां तक पार्टी की बात की जाये तो किरण माहेश्वरी 24 साल की उम्र में बीजेपी में संक्रिय हुई और उनका लोकप्रियता का ग्राफ लगातार बढ़ता गया। 1992 में पार्टी ने उन्हें राज्य कल्याण बोर्ड का सदस्य बनाया। 1994 में उन्होंने महिला सहकारी बैंक की स्थापना की और वे उसकी संस्थापक अध्यक्ष बनी । उंसके बाद 2000 में उन्हें पार्टी ने राजस्थान प्रदेश महिला मोर्चे का अध्यक्ष बनाया और 2006 में वे महिला मोर्चे की राष्ट्रीय अध्यक्ष बनी इसके बाद बीजेपी की राष्ट्रीय सचिव और 2011 में उन्हें पार्टी ने राष्ट्रीय महासचिव पद से नवाजा ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीं ने किरण माहेश्वरी के निधन पर दुख व्यक्त करते ट्वीट कर कहा किरण माहेश्वरी के निधन से पीड़ा हुई हैं सांसद विधायक या सरकार में मंत्री के रूप में उन्होंने राज्य की प्रगति की दिशा में काम करने के साथ गरीबों को हाशिये से उठाने के प्रयास किये, उनके परिवार के प्रति संवेदना … ओम शांति…

जबकि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने शौक संदेश में कहा उनके असामायिक निधन से मैं दुखी हूं इस कठिन समय में उनके परिवार के सदस्यों प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं हैं भगवान उन्हें इस कठिन समय मे यह दुख सहने की शक्ति प्रदान करें और उनकी आत्मा को शांति मिले।

Leave a Response

error: Content is protected !!