close
इंदौरमध्य प्रदेश

अब ना मैं हूं ना जमाने मेरे फिर भी मशहूर है शहरों मे फंसाने मेरे

  • अब ना मैं हूं ना जमाने मेरे

  • फिर भी मशहूर है शहरों मे फंसाने मेरे-

  • शायर राहत इंदौरी के प्रति शोक संवेनाओं का तांता

इंदौर– देश के जाने माने उर्दू शायर और गीतकार राहत इंदौरी का आज इंतकाल हो गया कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद इलाज के लिए वे अरविंदो अस्पताल में भर्ती थे जहां आज उन्हें अचानक दिल का दौरा पड़ा और उनका निधन हो गया। शायर राहत इंदौरी का जन्म 1 जनवरी 1950 को इंदौर में ही हुआ था । मशहूर शायर के निधन पर कवि और राजनेताओं ने शोक संवेदनाएं प्रकट की हैं।

खास बात थी कि राहत इंदौरी की शायरी पढ़ने की शैली अलग थी उनका अंदाज अलग था उनकी शायरी में रूमानियत थी तो वे इंकलाबी भी थे उनकी शायरी में कलंदर के साथ फकीरी भी थी।

देश के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि उनके निधन से साहित्य जगत को एक बड़ा नुकसान हुआ हैं मैं उनके चाहने वाले के प्रति भी शोक संवेदना प्रकट करता हूं।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शायर राहत इंदौरी के निधन पर शायरी के माध्यम से उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किये हैं – अब ना मैं हूँ ना बाकी जमाने मेरे, फिर भी मशहूर है शहरों में फंसाने मेरे,।

इसके साथ ही मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शोक जताते हुए कहा कि आपकी शायरी फ़िजा में हमेशा गूंजती रहेगी उन्होंने शोक संतृप्त परिवार को शक्ति देने की कामना भी परम पिता परमात्मा से की है । बीएसपी प्रमुख मायावती ने उनके शोक संतृप्त परिवार के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करते हुए कहा उनकी कमी को पूरा करना मुश्किल हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उनके निधन पर दुख जताते हुए ईश्वर से उन्हें अपने चरणों मे स्थान देने की प्रार्थना की हैं। वही छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शोक संवेदनाएं प्रकट करते हुए कहा अलविदा राहत इंदौरी, पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने राहत इन्दौरी के इंतकाल पर उन्हें अश्रुपूरित श्रद्धांजलि दी हैं।

विख्यात कवि कुमार विश्वास ने उनके निधन पर कहा हे ईश्वर , बेहद दुखद, मेने आज एक बेबाक शायर औऱ हमसफ़र खो दिया जबकि प्रसिद्ध शायर मंजर भोपाली ने आंसू भरी आंखों से अपनी शोक संवेदना प्रकट करते हुए कहा कि राहत इंदौरी की शख्शियत एक अलग मुकाम पर रही वे इंसानियत को अपना मजहब मानते थे तो मोहब्बत उनका पैगाम था सदियों में ऐसा व्यक्ति हमारे बीच आता हैं।

Leave a Response

error: Content is protected !!