close
पटनाबिहार

पूर्व आरजेडी नेता शक्ति की गोली मारकर हत्या, लालू के बेटे तेजस्वी, तेजप्रताप सहित 6 पर हत्या का मुकदमा दर्ज

Shakti Malik
Shakti Malik
  • पूर्व आरजेडी नेता शक्ति की गोली मारकर हत्या…

  • लालू के बेटे तेजस्वी, तेजप्रताप सहित 6 पर हत्या का मुकदमा दर्ज

पटना – बिहार विधानसभा चुनाव से ठीक पहले आरजेडी नेता तेजस्वी यादव की मुसीबत बढ़ गई है पूर्व आरजेडी नेता शक्ति मलिक की हत्या के मामले में लालूप्रसाद यादव के बेटे एवं आरजेडी नेता तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव सहित 6 लोगों के खिलाफ मामला कायम किया गया है। जबकि मृतक की पत्नी ने तेजस्वी यादव पर सीधा हत्या का आरोप लगाया हैं।

पूर्व आरजेडी के नेता शक्ति मलिक की घर में घुस कर अज्ञात नकाबपोश आरोपियों ने गोली मारकर हत्या कर दी और फरार हो गये इस मामले में पूर्णिया के केहाट थाने में 6 लोगों पर धारा 302 का प्रकरण दर्ज किया गया है पुलिस ने जिन 6 लोगों को हत्या का आरोपी बनाया है उसमें आरजेडी नेता तेजस्वी यादव उनके भाई तेजप्रताप यादव और रामविलास पासवान के दामाद अनिल साधू सहित 3 अन्य लोग शामिल हैं।

बताया जाता हैं मृतक शक्ति मलिक ने पिछले दिनों आरजेडी नेता तेजस्वी यादव पर 50 लाख में विधानसभा चुनाव का टिकट देने का आरोप लगाया था और उन्होनें उनके खास नेता अनिल साधू पर गाली गलौच करने और धमकी देने की बात भी कही थी साथ ही चार दिन पहले शक्ति मलिक ने अपनी हत्या का संदेह जताते हुए सरकार और पुलिस से अपनी सुरक्षा की मांग भी की थी।

इधर मृतक की पत्नी खुश्बू ने अपने पति की हत्या की साजिश रचने में सीधा सीधा आरजेडी पर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्हें मारने की धमकी दी गई थी और तेजस्वी यादव उनके भाई तेजप्रताप और अनिल साधू इस हत्या में शामिल है उन्होंने पुलिस और सरकार से न्याय दिलाने की मांग भी की है।

आरजेडी के प्रवक्ता भाई वीरेंद्र ने आरोपो को गलत बताया

इधर आरजेडी के प्रवक्ता भाई वीरेंद्र ने इस आरोप को गलत बताते हुए इसे नीतीश सरकार की साजिश बताया है उन्होंने कहा अपनी हार से घबराकर आरजेडी और उसके नेताओं को इस मामले में बे बजह फंसाया जा रहा है उन्होंने कहा शक्ति मलिक की हत्या पर हमें भी दुख है यदि तेजस्वी यादव ने कोई धमकी दी थी तो उसकी आडियो वीडियो कुछ बताये पत्नी के आरोप पर आरजेडी का कहना है उन्हें जेडीयू ने जो सिखाया वही वह बोल रही है उन्हें तेजस्वी यादव ने कोई धमकी नही दी यदि दी है तो उसके सबूत दे आरजेडी प्रवक्ता भाई वीरेंद्र ने कहा है कि इस मामले की निष्पक्ष जांच होना चाहिये सच सामने आ जायेगा।

जेडीयू नेता राजीव रंजन का बयान

जबकि जेडीयू नेता राजीव रंजन ने कहा कि आरजेडी नेता नीतीश सरकार पर झूठा आरोप लगा रहे है जबकि आरजेडी में टिकट बेचने की लालूप्रसाद यादव के समय से पुरानी परंपरा रही हैं जबकि मृतक शक्ति मलिक ने खुद टिकट के लिये तेजस्वी पर 50 लाख मांगने और जातिसूचक गाली गलौच करने के आरोप लगाया था। साथ ही उन्होंने हत्या की आशंका भी जताई थी। फिर इसमें सरकार कहा से शामिल हो गई।

लेकिन बिहार में विधानसभा चुनावों से एन पहले इस हत्या की घटना से हंगामा जरूर खड़ा हो गया हैं, जिससे आरजेडी की छवि पर विपरीत प्रभाव पड़ने की संभावना भी बलवती हो गई हैं। सबाल यह भी है कि क्या तेजस्वी और तेजप्रताप से पूछताछ के अलावा उन्हें हिरासत में भी लिया जा सकता हैं क्या… ?

Tags : CrimePolitics

Leave a Response

error: Content is protected !!