close
ग्वालियरमध्य प्रदेश

ग्वालियर का चर्चित नकली प्लाज्मा रैकेट मामला – 5 आरोपी हिरासत में पूछताछ जारी, बड़े सफेदपोश भी आ सकते है गिरफ्त में

JAH Gwalior
JAH Gwalior
  • ग्वालियर का चर्चित नकली प्लाज्मा रैकेट मामला-

  • 5 आरोपी हिरासत में पूछताछ जारी,

  • बड़े सफेदपोश भी आ सकते है गिरफ्त में…

ग्वालियर – मध्यप्रदेश के ग्वालियर में कोरोना पीड़ित मरीजों को नकली प्लाज्मा के सप्लाई करने वाले एक बड़े गैंग का पर्दाफाश हो गया है जिसमें अभी तक 5 लोगों को पुलिस ने अपनी गिरफ्त में लिया है पुलिस प्रशासन को लगता है अभी कई सफेदपोश और है जिनका गिरफ्त में आना अभी बाकी है आशा है जल्द वे भी उनकी पकड़ में होंगे।

कोरोना मरीजों को दिए जाने वाले प्लाज्मा की गैंग पुलिस के हत्थे चढ़ गई है और अब उस गैंग के तीन सदस्यों अजय मौर्य जगदीश और अजय शंकर त्यागी को पुलिस ने अपनी तहकीकात करने के दौरान हिरासत में लिया था जिनसे पुलिस ने गहन पूछताछ की और अजय शंकर त्यागी को रिमांड पर लेकर पुलिस अपनी पूछताछ जारी रखें है। जिससे कई नये खुलासे सामने आ रहे हैं, और पूछताछ के आधार पर पुलिस ने श्री राधास्वामी लेब के एक कर्मचारी धीरेंद्र गुप्ता और एक प्रिंटिंग प्रेस के कर्मचारी को भी अपनी गिरफ्त में लिया,जिनसे पुलिस लगातार पूछताछ कर इस रैकेट की जड़ में जाकर अन्य बड़े आरोपियों पर शिकंजा कसने की फिराक में है।

जैसा कि कोरना के मरीजों को नकली प्लाज्मा सप्लाई करके हजारों रुपए यह गैंग बनाता था ।जिसमें मुख्य सरगना अजय शंकर त्यागी को गिरफ्तार कर उसके पास पुलिस ने जयारोग्य अस्पताल की सील और वहां के ब्लड बैंक के रैपर बरामद किए हैं ।इस मुख्य आरोपी के दिए गए बयानों के मुताबिक एक कर्मचारी जेएएच के ब्लड बैंक और एक व्यक्ति अपोलो अस्पताल का इसमें संलिप्त पाया गया है ।इन लोगों से पुलिस की पूछताछ में भी हो रही है कि वह किस किस ब्लड बैंक से प्लाज़्मा का सौदा करते थे और प्लाज्मा की जगह पानी भर कर मरीजों को प्लाज्मा के नाम से हजारों रुपये लेकर बेच देते थे ।

इसके अलावा पुलिस और स्वास्थ्य प्रशासन की टीमें यह भी जानकारी जुटा रही है कि अभी तक इन्होंने कितने मरीजों को प्लाज्मा सप्लाई किया है और किस रेट में यह प्लाज्मा सप्लाई करते थे और उन मरीजों की स्थिति फिलहाल कैसी है।

प्रारंभिक तौर पर यह तो साफ है कि जयारोग्य अस्पताल के ब्लड बैंक के साथ-साथ निजी ब्लड बैंक के कर्मचारी और अपोलो अस्पताल के कर्मचारियों की मिलीभगत से यह गोरखधंधा फल-फूल रहा था। प्रबल संभावना है कि आने वाले दिनों में कई और चौंकाने वाले खुलासे इस मामले में हो सकते हैं।

Tags : Plasma

Leave a Response

error: Content is protected !!