close
दिल्लीदेश

कृषि कानून में सभी की रजामंदी शामिल, किसानों के कंधों पर बंदूक रख अपनी राजनीतिक जमीन तलाश रहा है विपक्ष, प्रधानमंत्री मोदी का म.प्र. के किसानों के नाम संदेश

PM Narendra Modi
PM Narendra Modi
  • कृषि कानून में सभी की रजामंदी शामिल,

  • किसानों के कंधों पर बंदूक रख अपनी राजनीतिक जमीन तलाश रहा है विपक्ष,

  • प्रधानमंत्री मोदी का म.प्र. के किसानों के नाम संदेश…

नई दिल्ली/ भोपाल- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कृषि कानूनों पर किसानों के आंदोलन को लेकर कांग्रेस और विपक्ष पर तीखा हमला बोला हैं मध्यप्रदेश के किसानों को संबोधित करते हुए उन्होंने साफ कहा किसानों के कंधे पर बंदूक रखकर विपक्ष अपनी खोई जमीन तलाश रहा हैं यह कानून रातों रात नही आये बल्कि सभी की रजामंदी से लाये गये है उन्होंने कहा मैं इसका कोई क्रेडिट लेना नही चाहता कृपया विपक्ष किसानों को बरगलाना बंद करे।

प्रधानमंत्री श्री मोदी ने मध्यप्रदेश के किसानों के नाम संदेश में कहा कि यह कृषि कानून रातों रात नही आये पिछले 20 -22 सालों में हर केंद्र और राज्य की सरकारों ने कृषि सुधारों की बात की हमने किसान संगठनों कृषि विशेषग्यो वैज्ञानिकों अर्थशास्त्रियों से इस बात की व्यापक चर्चा की हैं साथ ही अपने देश के प्रोग्रेसिव किसानों से भी बातचीत की हैं।

उन्होंने स्पस्ट कहा कि लोगों को इसकी पीड़ा नही की हमने यह कृषि कानून क्यों लाये बल्कि उनकी परेशानी यह है कि वे कहते रहे पर कर नही पाये और मोदी ने कैसे कर दिया मोदी को इसकीं क्रेडिट क्यों मिल रही हैं मैं सभी से हाथ जोड़कर कहना चाहता हूं कि मैं आपके सभी घोषणा पत्रों को क्रेडिट देता हूं मैं केवल किसानों के जीवन को आसान करना चाहता हूं आप कृपा करके किसानों को भ्रमित करना छोड़ दीजिये।

पीएम ने कहा इन कृषि कानूनों को लागू हुए 6-7 महीने हो गये अचानक( विपक्ष ने) भ्रम का जाल बिछाकर अपनी राजनीतिक जमीन को जोतने का खेल शुरू कर दिया अब यह ढोंग झूठ प्रपंच का खेल बंद करें। प्रधानमंत्री ने कहा किसानों के कंधों पर बंदूक रखकर बार किया जा रहा हैं जिनकी खुद की राजनीतिक जमीन खिसक गई है वह किसानों की जमीन छिन जायेगी का डर दिखाकर अपनी राजनीतिक जमीन खोज रहे है।

पीएम ने यह भी कहा कि सरकार इन कृषि कानूनों को लेकर किसानों से हर समय वार्ता को तैयार है हम किसानों के हर सुझाव को मान्यता देंगे, किसानो और सरकार के बीच बातचीत से हर समस्या का हल जरूर निकलेगा।

Leave a Response

error: Content is protected !!