close

शिवपुरी

कोटामध्य प्रदेशराजस्थानशिवपुरी

कोटा से छात्रा की किडनेपिंग निकली साजिश, इंदौर में फोटो शूट, जयपुर से मांगी 30 लाख की फिरौती, विदेश जाना चाहती थी छात्रा

Morena Girl Kidnapped in Kota

कोटा, शिवपुरी/ शिवपुरी की रहने वाली छात्रा के कोटा से अपहरण के मामले में राजस्थान पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है पुलिस के मुताबिक छात्रा के साथ कोई अपराध या अपहरण की घटना नहीं हुई है उसने खुद अपने दोस्तों के साथ मिलकर अपने अपहरण की झूठी साजिश रची और 30 लाख की फिरौती मांगी वह अपने साथी के साथ विदेश जाना चाहती थी। लेकिन पुलिस अभी तक छात्रा और उसके बॉय फ्रेंड को अभी तक खोज नही पाई हैं जिससे किसी अनहोनी से भी इंकार नहीं किया जा सकता है।

शिवपुरी जिले बैराड़ कस्बे के स्कूल संचालक रघुवीर धाकड़ की बेटी है काव्या धाकड़ (21 साल) 18 मार्च को रघुवीर के मोबाईल पर वाट्सएप मैसेज आया जिसमें काव्या के अपहरण की बात लिखते हुए उनसे 30 लाख की फिरौती मांगी गई थी न देने पर काव्या को जान से मारने की धमकी दी गई थी साथ में एक फोटो भी था जिसमें काव्या के हाथ पैर और मुंह बंधे हुए थे। रघुवीर के मुताबिक उसकी बेटी कोटा की एक कोचिंग में नीट की तैयारी कर रही थी और वहीं एक हॉस्टल में रह रही थी।

रघुवीर ने बताएं गए बैंक एकाउंट में पैसे नहीं डाले और शिवपुरी पुलिस को भी इसकी जानकारी देने के बाद वह कोटा पहुंचा और उसने वहां एफआईआर कराई बाद में केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने राजस्थान के सीएम से बात कर इस मामले में कार्यवाही की बात कही।

लेकिन कोटा पुलिस रिपोर्ट के बाद ही सक्रिय हो गई थी। एसपी कोटा अमृता दुहान खुद मामले पर नजर रखें थी उन्होंने पुलिस की कई टीमें बनाकर खोजबीन शुरू कर दी अनुसंधान में कई सूत्र उनके हाथ लगे उन्होंने बताया कि जो फोटो पिता के पास भेजा गया वह इंदौर में इसके दोस्त के किचन में शूट किया गया था जिसमें उसके हाथ पैर बांध दी मुंह से खून निकल रहा था। इसके बाद छात्रा अपने साथियों के साथ 16 को इंदौर से ट्रेन से चलकर 17 मार्च को जयपुर पहुंची और वहां से एक सिम खरीदी और उसी सिम से फोन कर 18 मार्च को दोपहर 3.30 और 5.30 बजे के बीच पिता से फिरौती मांगी गई। लेकिन जब 2 घंटे बाद रघुवीर धाकड़ ने एकाउंट में रकम नहीं डाली तो यह लोग मोबाइल स्विच ऑफ कर इंदौर लोट आए। जयपुर रेल्वे स्टेशन पर छात्रा के साथ दो संदिग्ध युवक भी देखे गए। जयपुर से एक अन्य युवक को भी पुलिस ने हिरासत में लिया और उससे पूछताछ भी की। पुलिस के अनुसार जयपुर के लिए इन्होंने बस का टिकट खरीदा लेकिन गुमराह करने के लिए ट्रेन से गए जयपुर में जहां से इन्होंने सिमकार्ड खरीदा वहां भी यह सीसीटीवी कैमरे में केपचर हुए। एसपी ने बताया छात्रा अभी नहीं मिली है उसकी तलाश जारी है।

एसपी अमृता दुगान ने बताया कि छात्रा ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर अपहरण की साजिश रची और पिता से 30 लाख रुपए की फिरौती मांगी। छात्रा विदेश में पढ़ना चाहती थी। इसीलिए उसने यह साजिश रची। पुलिस के मुताबिक अपहरण का यह फर्जी षडयंत्र इंदौर और जयपुर में रचा गया।

इधर छात्रा के पिता रघुवीर धाकड़ ने बताया अप्रैल 2023 तक बेटी इंदौर में रहकर नीट की तैयारी कर रही थी यहां कुछ लड़कों से परेशान होकर उसे बुलाया था रिंकू धाकड़ की थाने में भी शिकायत कर उसे सीख दिलाई थी लेकिन रिंकू ने अपने दोस्तो को नंबर देकर फिर से परेशान करवाया यह नशे के आदी युवक गलत काम करते है, उन्होंने बताया मैने बेटी का नामवर भी बंद करवा दिया, लेकिन बैंक खातों से अटैक होने से फिर चालू करवाया था लगता है यही मेरी सबसे बड़ी भूल रही। इस बीच 3 सितंबर को बेटी को नीट की कोचिंग के लिए कोटा भेजा था।

read more
मध्य प्रदेशशिवपुरी

शिवपुरी के कोलारस में बिजली विभाग के जुनियर इंजीनियर के ऊपर गिरी क्रेन, मौके पर मौत, एई सहित चार घायल

Jr Engineer Died in Shivpuri

शिवपुरी/ मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में एक बड़ा हादसा सामने आया है यहां के कोलारस क्षेत्र में ट्रांसफार्मर बदलने के दौरान अचानक क्रेन गिर जाने से दबकर बिजली विभाग के एक जूनियर इंजीनियर की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि एक असिस्टेंट इंजीनियर के साथ चार अन्य लोग घायल हो गए हैं।

बताया जाता है शिवपुरी के कोलारस ब्लॉक के ग्रामीण क्षेत्र में एक मेन ट्रांसफॉर्मर (PTR) खराब हो गया था वहां से शिकायत आने के बाद आज विद्युत वितरण कंपनी के असिस्टेंट इंजीनियर आशुतोष कुमार के साथ जूनियर इंजीनियर नरोत्तम जाटव और अन्य कर्मचारी उसे बदलने के लिए गए थे भारी होने के कारण उसे जब क्रेन से खम्बो पर से उतारा जा रहा था तभी क्रेन अचानक अनियंत्रित हो गई और पलट कर नीचे गिर गई लेकिन जिस साइड गिरी उधर कुछ कर्मचारी और दोनों इंजीनियर भी खड़े थे उनमें से जूनियर इंजीनियर नरोत्तम जाटव क्रेन के नीचे दब गए जिससे उनकी घटना स्थल पर ही मौत हो गई जबकि सब इंजीनियर आशुतोष कुमार और तीन अन्य कर्मचारी घायल हो गए। घटना की जानकारी मिलने पर कोलारस थाना प्रभारी मनीष शर्मा पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए थे और पुलिस ने सभी घायलों को कोलारस के अस्पताल में भर्ती कराया हैं।

बताया जाता है जब यह दुर्घटना हुई इस दौरान क्रेन का ड्राइवर लगातार फोन पर बात करता रहा इसके अलावा जिस जगह उसने क्रेन खड़ी की थी वह स्थान भी ऊबड़ खाबड़ था लगता है और जब क्रेन से ट्रांसफोर्मर उतारा जा रहा था जो करीब 13 से 15 टन का था अत्यधिक भार होने से एकाएक क्रेन एक तरफ झुक गई और गिर गई जिससे यह घटना घटी। लेकिन इस हादसे के बाद क्रेन का ड्राइवर वहां से फरार हो गया। जबकि इस हादसे के बाद बिजली विभाग के कर्मचारियों में शोक व्याप्त है।

शिवपुरी के पुलिस अधीक्षक रघुवंश सिंह भदौरिया ने बताया कि इस घटना में बिजली विभाग के जूनियर इंजीनियर की मौत हो गई है एक सहायक यंत्री सहित 4 अन्य कर्मचारी घायल हुए हैं पुलिस ने इस मामले में फरार ड्राइवर के खिलाफ गैर ईरादतन हत्या का मामला दर्ज कर लिया है जबकि घायलों की स्थिति ठीक है वह खतरे से बाहर हैं।

इधर विद्युत कंपनी के एसई संदीप कालरा का कहना है यह कार्य एसटीसी का ही होता है और विद्युत वितरण कंपनी के कर्मचारियों को ही ट्रांसफॉर्मर चेंज कराना पड़ता है जहां तक क्रेन का सवाल है उसके लिए उसके लिए वर्क ऑर्डर जारी हुआ होगा सभी काम नियम के अनुसार हो रहा था लेकिन इस हादसे का क्या कारण रहा फिलहाल यह बताया नही जा सकता।

जानकारी के मुताबिक मृतक जूनियर इंजीनियर नरोत्तम जाटव मुरैना जिले के सबलगढ़ कस्बे के गांव साथेर के रहने वाले थे उनके 8 साल की बेटी और डेढ़ साल का बेटा है।

read more
मध्य प्रदेशशिवपुरी

मप्र के माधव नेशनल पार्क में 27 साल बाद फिर गूंजी बाघों की दहाड़, शिवराज सिंधिया ने किए पार्क के बाड़े में 2 बाघ रिलीज

Shivraj and Scindia released 2 tigers in Madhav National Park

शिवपुरी / मध्यप्रदेश का शिवपुरी नेशनल पार्क अब बाघों की दहाड़ से गूंज उठा है आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने यहां दो बाघों को बाड़े में रिलीज किया 15 दिन बाद इन्हें खुले जंगल में छोड़ दिया जायेगा।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया शुक्रवार दोपहर करीब 2 बजे शिवपुरी स्थित माधव नेशनल पार्क पहुंचे और एक नर और एक मादा टाइगर को उनके लिए निर्धारित बाड़ों में छोड़ा जब नर बाघ ने पिंजरे से बाहर बाड़े में प्रवेश किया तो जोरदार दहाड़ लगाई और फिर दौड़ लगा दी। जैसा कि दो बाघिन और एक नर बाघ को आज छोड़ा जाना था लेकिन पन्ना टाइगर रिजर्व से आने वाली बाघिन घायल है इसलिए फिलहाल उसे नही लाया गया ठीक होने के बाद उसे तीन चार दिन बाद लाया जायेगा।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया शुक्रवार दोपहर करीब 2 बजे शिवपुरी स्थित माधव नेशनल पार्क पहुंचे और एक नर और एक मादा टाइगर को उनके लिए निर्धारित बाड़ों में छोड़ा जब नर बाघ ने पिंजरे से बाहर बाड़े में प्रवेश किया तो जोरदार दहाड़ लगाई और फिर दौड़ लगा दी। जैसा कि दो बाघिन और एक नर बाघ को आज छोड़ा जाना था लेकिन पन्ना टाइगर रिजर्व से आने वाली बाघिन घायल है इसलिए फिलहाल उसे नही लाया गया ठीक होने के बाद उसे तीन चार दिन बाद लाया जायेगा। बाघों के रिलीज करने के दौरान भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा सांसद केपी यादव मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया वन मंत्री विजय शाह मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया भी मोजूद थे।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बाघ मित्रों से भी मुलाकात भी की और उन्हें उनकी जिम्मेदारी से अवगत कराया साथ ही सीएम ने कहा कि माधव नेशनल पार्क में बाघों के आने से इस क्षेत्र में पर्यटन एवं रोजगार के अवसर बड़ेंगे।

छोड़े गए बाघों में मादा टाइगर बांधवगढ़ नेशनल पार्क से लाई गई है जो 500 किलोमीटर का रास्ता तय कर आज सुबह 8 बजे शिवपुरी पहुंची थी जबकि नर बाघ सतपुड़ा अभ्यारण नर्मदापुरम से लाया गया है जो पिंजरे में 400 किलोमीटर दूरी से यहां 11 बजे आया जो केवल 3 साल का है लेकिन डीलाडोल में काफी बड़ा हस्टपुष्ट आकर्षक और पूर्ण व्यस्क दिखता है। लेकिन इन्हें छोड़ने से पहले ट्रको में ही रखा गया और ट्रक स्टार्ट रखे गए जिससे इन्हें लगे यह अभी भी सफर कर रहे है और कोई उत्पात ना करें। जानकारी के मुताबिक पन्ना टाइगर रिजर्व से आने वाली बाघिन कल रात तक फॉरेस्ट की रेस्क्यू टीम को नही मिली आज सुबह तड़के हाथियों के साथ टीम ने जब हांका किया तो वह घायल अवस्था में मिली जिसका चिकित्सकों की देखरेख में इलाज किया जा रहा हैं।

माधव नेशनल पार्क के सीसीएफ उत्तम शर्मा के मुताबिक पार्क के बीच बलारपुर कक्षा क्रमांक एक में बाघों के पुनर्वास के मद्देनजर 4 हजार हेक्टेयर का बड़ा एनक्लोजर (बाड़ा) बनाया गया है तीन हिस्सों के इस बाड़े की ऊंचाई 16 फुट रखी गई है तीनों बाघों के लिए अलग अलग एनक्लोजर है प्रत्येक में 6 ..6 हजार लीटर के सोसर बनाएं गए है जिसके पानी का टेस्ट किया जा चुका है इस सौसर का बाहर से पाइप लाइन से कनेक्शन किया गया हैं।

इन बाड़ों में सेटेलाईट के साथ बाघों को कॉलर आईडी से लैस किया जायेगा। सीसीएफ के मुताबिक सुरक्षा के लिहाज से निगरानी के लिए इन बाड़ों के बाहर 6 मचान बनाएं गए है। उन्होंने बताया 15 दिन बाद इन बाघों को पार्क के काफी सुविधायुक्त झिरना इलाके में छोड़ा जाएगा जहां एक बड़ा झरना जो हमेशा पानी से भरा रहता है और कुछ गुफाएं भी है जहां बाघ अपने परिवार को सुरक्षित रख सकेंगे। माधव नेशनल पार्क के वन क्षेत्र में बाघों के लिए जंगली जानवरों की भरपूर खुराक है।

read more
मध्य प्रदेशशिवपुरी

6 साल की बच्ची से रेप और मर्डर, नाबालिग आरोपी की पिटाई से लीवर भी फटा

Rape Victim Girl

शिवपुरी/ मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले के गांव बडौरा में 2 दिन पहले 6 साल की मासूम का बलात्कार कर हत्या करने वाले नाबालिग आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस काफी मशक्कत के बाद कड़ी से कड़ी जोडकर इस हत्यारे तक पहुंची है। बताया जा रहा है कि आरोपी ने बड़ी बेरहमी से मासूम की बुरी तरह पिटाई लगाई और उसके बाद उसका बलात्कार किया, फिर उसकी गला दबाकर हत्या कर दी।

जैसा कि 11 फरवरी शनिवार को जिले के करेरा थाना क्षेत्र के बडौरा गांव में 6 साल की मासूम बच्ची की लाश एक सरसो के खेत में मिली थी। क्राईम सीन बता रहा था कि मासूम का बलात्कार और हत्या की गई थी। पुलिस को मासूम के मुंह में कपड़ा ठुसा मिला था बेरहमी से उसकी हत्या की गई थी घटना स्थल के पास खून के दाग भी मिले इस घटना के बाद पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल सहित तमाम पुलिस बल मौके पर पहुंच गया था।

इस मामले को ट्रेस करना पुलिस के लिए चुनौती बन गया था आखिर पुलिस ने अपनी सूझबूझ और तफ्तीश से इस जघन्य रेप हत्याकांड करने वाले आरोपी को दबोच ही लिया हैं। इस घटना में 10 फरवरी शुक्रवार को कक्षा 2 में पढ़ने वाली 6 साल की मासूम अपनी मां के साथ गांव के मंदिर पर भागवत कथा में गई थी। कथा परिसर से मासूम गायब हो गई थी और शनिवार की सुबह उसकी लाश मिली थी। पुलिस ने इस आरोपी तक पहुंचने के लिए लगभग 4 दर्जन लोगों को उठाया था।

बताया जा रहा है कि मासूम बच्ची परिवार की अन्य लडकियां के साथ कथा स्थल पर लगे झूले पर झूला झूलने जाती थी। पुलिस को जांच पता चला कि यही अंतिम बार मासूम देखी गई थी। इसके बाद वह गायब हो गई थी। पुलिस ने इस झूले मालिक को उठाया और पूछताछ की तो मालूम हुआ कि एक लड़का रोजाना झूले को साफ करने आता था मालिक ने घटना वाले दिन उसे 20 रूपये दिए थे इसका खुलासा होने पर पुलिस ने पूछताछ में उसके 2 कर्मचारी को भी उठाया। पुलिस को संदेह हुआ कि आरोपी झूला झूलाने वाले का एक कर्मचारी है जो पास के गांव रहरगमा का रहने वाला था पुलिस तुरंत सक्रिय हुई और उसने उसको उसके गांव जाकर पकड़ा रहा पुलिस की पूछताछ में इस नाबालिग आरोपी ने पूरा सच उगल दिया है कि उसने कैसे इस जघन्य घटना को अंजाम दिया है। आरोपी की उम्र 15 साल बताई जा रही है पुलिस की पूछताछ में बताया एक बार उसने खेत में एक महिला पुरुष को गलत काम करते देखा था और उसने यह भी स्वीकार किया था कि वह मोबाइल पर पोर्न फिल्म देखने का आदी हो चुका था।

मासूम की मौत के बाद उसके पोस्टमार्टम में प्रारंभिक तौर पर सामने आए तथ्यों ने आरोपी के बहशीपन को उजागर करके रख दिया उनसे यह स्पष्ट हुआ कि बच्ची के संघर्ष के दौरान आरोपी ने उसकी बुरी तरह पिटाई की और बेहोशी की हालत में उसके साथ दुष्कर्म किया खुद की पहचान छिपाने के उद्देश्य से बाद में उसे पीट-पीट कर मौत के घाट उतारा था। स्वास्थ्य विभाग से जुड़े विश्वसनीय सूत्रों की मानें बलात्कार के बाद बच्ची को इतना पीटा कि उसका लिवर तक फट गया। जब बच्ची इतने पर भी जिंदा रही तो उसका गला दबा दिया गया। बच्ची के मुंह से आवाज बाहर न आए इसलिए आरोपित ने उसके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया था। जिससे स्पष्ट होता है कि कम उम्र के बावजूद आरोपी कितना दुर्दांत और बेरहम हैं।

मासूम बच्ची की मौत और पूरी घटना की जानकारी के बाद उसके परिवार का रो रोकर बुरा हाल है और गांव में मातम पसरा है लोगों में काफी आक्रोश भी है। जबकि बच्ची के पिता का कहना है मेरी बेटी पड़ने में तेज थी और कहती थी कि पढ़ लिखकर वह भी शिक्षिका बनेगी।

read more
मध्य प्रदेशशिवपुरी

पति ने पत्नी की नाक काटी, सास ससुर ने थमाया ब्लेड, आरोपी फरार

Husband cut off wife nose accused absconded

शिवपुरी – मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में एक विवाहित महिला के साथ बड़ी बेरहम और दर्दनाक घटना सामने आई हैं और कोई नही उसके पति ने ही उसकी नाक काट दी खास बात है महिला के सास ससुर ने भी नाक काटने में अपने बेटे का सहयोग किया। पीड़ित महिला को अस्पताल में भर्ती कराकर पुलिस ने तीनों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया हैं। फिलहाल आरोपी गिरफ्त से बाहर हैं।

शिवपुरी के बामौरकलां थाना अंतर्गत आने वाले गांव ढोंगा में यह हृदय विदारक और हैरान कर देने वाली वारदात सांमने आई है महिला पूजा जब खेत के कुएं पर घास काट रही थी तभी उसका पति रामप्रवेश वंशकार वहां शराब पीकर आया और वह महिला से मारपीट करने लगा महिला की बेटी बहन बचाने आई तो रामप्रवेश ने उन्हें भी पीटा और धक्का दे दिया इसी बीच महिला के सास ससुर भी वहां आ गये वे भी बेटे का साथ देकर महिला से झगड़ने लगे इसे बीच सास किसन बाई ने अपने बेटे को ब्लेड थमा दिया और आव देखा ना ताव उसने अपनी पत्नी पूजा की नाक काट दी महिला और बेटियों के चिल्लाने के बाद वहां आसपास से ग्रामीण आ गये और उन्होंने महिला को बचाया इस बीच पति ने जान से मारने की धमकी दी और तीनों वहां से भाग खड़े हुए। बाद में मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल महिला को इलाज के लिये खनियाधाना स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती करा दिया है।

बताया जाता है महिला को दहेज के लिये लंबे समय से प्रताड़ित किया जा रहा था तंग आकर पिछले दिनों पूजा अपनी दो बेटियों के साथ मायके चली गई थी वहां मेहनत मजदूरी कर बच्चों का पाल रही थी। कुछ दिन पहले ही वह बच्चों को लेकर ससुराल आई थी। पीड़ित पूजा के मुताबिक जब वह घास काट रही थी तभी उसका पति शराब पीकर आया और उसकी मारपीट करने लगा इस बीच आये सास ससुर ने कहा तू हमारे घर क्यों आई मेरे कहने की यह मेरा भी घर है उन्होंने मिलकर हमला कर दिया।

बामौरकलां थाने के टीआई नीरज राणा ने बताया महिला की रिपोर्ट पर उसके पति रामप्रवेश वंशकार ससुर मुन्ना और सास किशन बाई के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया ही उनकी खोजबीन जारी है जल्द वे गिरफ्तार कर लिये जायेंगे।

read more
मध्य प्रदेशशिवपुरी

बाढ़ में स्टेट कालीन पचावली पुल टूटने से बहे एक व्यक्ति की मौत, 50 गांव का रास्ता बंद, 10 साल में नही हो पाया नये पुल से आवागमन शुरू, प्रशासन पर आरोप

Bridge Collapsed

शिवपुरी – शिवपुरी जिले के सिंध नदी पर बने पुराने स्टेट टाईम के पचावली पुल के बाढ़ के दौरान टूटने से तीन लोग बह गये थे जिसमें दो बाहर आ गये जबकि एक की मौत हो गई। लेकिन इस पुल के ढह जाने से अशोकनगर ईशागढ़ मार्ग बंद हो गया तो रन्नौद कैलारस मार्ग भी अभिरुद्ध हो गया है जिससे करीब करीब आधा सैकड़ा गांवों के ग्रामीणों का जिला मुख्यालय से संबंध टूट गया हैं। लेकिन ग्रामीणों की इस समस्या के पीछे स्थानीय प्रशासन पूर्ण रूप से दोषी है जिसने करोड़ो की कीमत से बने नये पुल पर दो साल बीतने के बावजूद एप्रोच रोड नही बनबाई जिसका खामियाजा आज आम लोग भोग रहे हैं।

शिवपुरी जिले के कोलारस अनुविभाग के ईसागढ़ रोड़ स्थित ग्राम पचावली के पास सिंध नदी पर स्टेट टाइम में 100 साल पहले बना पुराना पुल बीते दिनों आई तेज बारिश और बाढ़ से ढह गया। बताया जा रहा है कि पुल तीन अलग-अलग जगह से टूटा है। पुल टूटने के दौरान तीन लोग पानी में बह गए जिसमें से दो लोग सुरक्षित बाहर आ गए, वहीं एक व्यक्ति का आज शव बरामद हो गया है । यह पुल 100 साल से अधिक पुराना बताया जा रहा है। बारिश के मौसम में हर बार यह पुल सिंध नदी में डूब जाता था। इस बार भी 10 दिन पूर्व ही यह पुल पानी में पूरी तरह से डूब गया था, बल्कि इस पुल के 10 फीट ऊपर पानी बह रहा था।

यहां बता दें कि पुराने पुल टूटने से ईसागढ़-अशोकनगर जाने का रास्ता अब पूरी तरह से बंद हो गया है। वैसे तो पास में नया पुल बना है लेकिन उसकी एप्रोच रोड का निर्माण नही हो पाया है। जैसा कि इस पचावली के पुराने पुल के पास नये पुल का निर्माण 41 करोड़ की लागत से दिलीप बिल्डिकाम कंपनी ने शुरू किया जो 3 साल पहले बनकर तैयार हो गया लेकिन इस पुल की एप्रोच रोड का ठेका शिवपुरी की बंसल कंस्ट्रक्शन कंपनी को दिया गया लेकिन तीन साल होने के बावजूद वह आज तक एप्रोच रोड का काम पूरा नही कर पाई और यह हादसा हो गया, ग्रामीण आने जाने के लिये फिलहाल इस पुराने पुल का इस्तेमाल कर रहे थे लेकिन अब पुराना पुल टूटने से लोगों के लिए आने-जाने का रास्ता ही बंद हो गया है। मामले की सूचना पर से रन्नौद थाना से लेकर कोलारस पुलिस मौके पर आ गई है। दोनो तरफ से बैरीकेट्स लगाकर रास्ते को बंद किया जा रहा है। साथ ही रात में यहां पर सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस बल तैनात किया गया है।

पचावली पुल टूटने के दौरान तीन युवक प्रभु आदिवासी, बुद्धा नामदेव निवासी अनंतपुर व प्रताप आदिवासी निवासी पतरिया नदी में गिरे थे। इनमें से प्रताप आदिवासी व बुद्धा तो पानी में से तैरकर बाहर आ गए जबकि प्रभु आदिवासी का कोई सुराग नही लगा था बताया जाता है आज घटनास्थल से करीब 20 किलोमीटर दूर सिंध नदी के किनारे बसे गांव टामकी के पास एक व्यक्ति का शव मिला जब उसकी लापता प्रभु आदिवासी के परिजनों से शिनाख्त कराई गई तो वह शव प्रभु आदिवासी का ही पाया गया इस तरह पुल टूटने से सिंध नदी में बहे प्रभु आदिवासी की मौत हो गई है।

जबकि पुल की स्थित जर्जर होने के कारण से उनका आवागमन बंद कर दिया था इस वजह से और बड़ी घटना होने से बच गई।
लेकिन ग्राम पचावली के पास सिंध नदी पर बने इस पुल को टूट जाने के कारण आवागमन की सुविधा बिल्कुल ध्वस्त हो गई है क्योंकि कुछ दिनों पूर्व सिंध नदी में आई बाढ़ के कारण खरैह भड़ौता कोलारस मार्ग भी बहुत बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है जिससे पूरा रन्नौद क्षेत्र पचावली पुल से होते हुए निकल रहा था अब सभी को एजवारा होते हुए बदरवास पहुंचकर कोलारस आना पड़ रहा है इसके अलावा रन्नौद कोलारस मार्ग और ईशागढ़ अशोकनगर मार्ग भी बंद हो गया है जिससे आमजन को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है समय एवं पैसे दोनो की बर्बादी हो रही हैं।

बीजेपी नेता रामकुमार दांगी ने कहा है कि इसके लिये कही ना कही स्थानीय प्रशासन की लापरवाही दोषी है क्योंकि सबको मालूम है कि विगत 10 वर्ष से नये पुल का निर्माण कार्य सिंध नदी पर चल रहा है लेकिन कार्य के पूरे होने की कोई समय सीमा होती है इतनी लापरवाही और कार्य मे बिलंब शिवपुरी जिले में किसी जगह देखने को नहीं मिला अशोकनगर खनियाधाना मुख्य मार्ग होते हुए भी पुल निर्माण में विलंब हुआ जिसका खामियाजा आज उठाना पड़ रहा है पुल टूटने की घटना यदि दिन में होती तो बहुत अधिक जनहानि भी हो सकती थी उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्य पुल निर्माण के बाद वर्षों बीतने पर भी अभी तक उसकी एप्रोच रोड नही बन पाई जबकि नए पुल को केवल 8 दिन में चालू कराया जा सकता है नए पुल पर मिट्टी भराव के लिए खरैह पठार और कुल्हाड़ी पठार से लाल मुरम लाकर डाली जा सकती है ।इसके लिए ट्रांसपोर्टिंग में सिर्फ थोड़ा सा खर्च बढ़ेगा। उन्होंने कहा अभी पुल पर निर्माण चल रहा है उसकी गुणवत्ता सब लोग देख चुके हैं ज्यादा कुछ नही कहूंगा श्री दांगी ने कहा कि हवा हवाई बातों की बजाय सभी जल्द एप्रोच रोड बने लोगो को आवागमन की सुविधा बहाल हो उसके लिये सभी जनप्रतिधि विधायक आगे आये यह मेरी अपील हैं।

जबकि स्थानीय ग्रामीणों ने घटना में मृत प्रभु आदिवासी के परिजनों को उचित मुआवजा देने के साथ नये पुल के निर्माण में दोषी प्रशासनिक अधिकारी और ठेकेदार पर कड़ी कार्यवाही की मांग भी की हैं।

read more
मध्य प्रदेशशिवपुरी

शिवपुरी के हस्तिनापुर गांव में एकसाथ 2 सौ से अधिक परिंदों की मौत से सनसनी

Birds Died in Shivpuri

शिवपुरी – शिवपुरी जिले के बदरवास क्षेत्र में परिंदों की मौत का सिलसिला दो दिन से जारी है अभी तक 2 सौ से अधिक पक्षियों की मौत हो चुकी है पशु चिकित्सा विभाग भी यह घटना से हतप्रद है फिलहाल मौत की बजह का पता नही चला है चिकित्सा प्रशासन ने दो परिंदों के सेंपल जांच के लिये भेजकर बाकी मृत पक्षियों का अंतिम संस्कार कर दिया हैं। पक्षियों की इस तरह हो रही मौतों से स्थानीय ग्रामीणों में दहशत देखी जा रही हैं।

शिवपुरी जिले के बदरवास विकासखंड के हस्तिनापुर गांव में कल मंगलवार की शाम से आकाश और पेड़ों के ऊपर बैठे पक्षियों के टपकने का सिलसिला जो शुरू हुआ आज सुबह तक जारी है अभी तक दो सौ से अधिक मासूम परिंदों की मौत हो चुकी है स्थानीय लोग भी इस तरह गिरे परिंदो और उनकी देखते ही देखते मौत होने से सिहर उठे कुछ लोगों ने प्रशासन और पशु चिकित्सा विभाग को इसकी के
जानकारी दी।

चिकित्सा विभाग के चिकित्सकों की वहां पहुंची टीम ने सावधानी वश पीपीई किट पहनकर इन मृत पक्षियों की जांच की उनके मुताबिक संभवता किसी तरह का संक्रमण या फिर जहरीला दाना खाना इनकी मौत का कारण हो सकता है लेकिन कोरोना से उन्होंने इंकार करते हुए कहा कि पुख्ता तौर पर इन मृत पक्षियों के परीक्षण के बाद ही इनकी मौत की बजह की पुष्टि हो सकेगी। चिकित्सा विभाग के डॉक्टरों ने दो मृत पक्षियों के सेंपल जांच के लिये भोपाल लेब भेजे है बकाया मृत परिंदो का उन्होंने अपनी देखरेख में अंतिम संस्कार मौके पर ही करा दिया हैं। लेकिन चिंता की बात है कि उस क्षेत्र में पक्षियों की मौत की संख्या कम जरूर हुई है लेकिन यह सिलसिला जारी हैं। मरने वाले परिंदो में गौरैया चिड़िया, तोते, पड़कुलिया, फाख्ता आदि शामिल हैं।

read more
मध्य प्रदेशशिवपुरी

शिवपुरी के कर्बला के जंगल में जंगली जानवर ने किया वृद्ध चरवाहे पर हमला, साहस और सूझबूझ ने बचाई जान, तेंदुआ था कोई और जानवर?

Leopard attack on old man

शिवपुरी – मध्यप्रदेश के शिवपुरी के कर्बला के वन क्षेत्र में एक वृद्ध चरवाहे पर जंगली जानवर ने अचानक हमला बोल दिया लेकिन चरवाहे ने अपने साहस और सूझबूझ से उल्टा उस जानवर को जान बचाकर भागने पर मजबूर कर दिया लेकिन इस हमले में वह चरावाहा घायल हो गया है खबर मिलने पर वन विभाग ने नियमानुसार कार्यवाही कर घायल वृद्ध को अस्पताल में भर्ती कराया है फिलहाल उस जंगली जानवर को फारेस्ट महकमा तेंदुआ बता रहा है लेकिन वह इसकी पुष्टि के लिये भी प्रयासरत है कि वह तेंदुआ था या कोई और जंगली जानवर।

शनिवार की शाम घिरने के साथ ही पोहरी के जंगली इलाके से पालतू पशुओं को चराकर जब 70 वर्षीय कोमल सिंह बघेल कर्बला के वन क्षेत्र से होकर घर लौट था तभी एकाएक घने जंगल से निकलकर एक जंगली जानवर (संभवतः जो तेंदुआ था) ने उस बुजुर्ग चरवाहे पर हमला बोल दिया अचानक आई इस बिपदा से वह पहले घबरा गया लेकिन फिर साहस कर उंसने एक हाथ उस जानवर के मुंह में अंदर घुसेड़ दिया और दूसरे हाथ से उसकी गर्दन दबोच ली और जोर जोर से बचाने के लिये चिल्लाने लगा आवाज सुनकर आसपास में मौजूद कई ग्रामीण दौड़ पड़े जब उन्होंने वृद्ध को उस जानवर की गिरफ्त में भिड़ते देखा तो जानवर को घेरकर उसे भगाने की गरज से चिल्लाने लगे लोगों को देखकर संभवतः जो तेंदुआ था चरवाहे को छोड़कर अपनी जान बचाकर जंगल में भाग गया।

बाद में घायल बुजुर्ग चरवाहे कोमल बघेल को इलाज के लिये वन विभाग पोहरी के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर आया लेकिन इस जंगली जानवर के हमले के बाद पोहरी और आसपास के गांव के लोग दहशत में हैं।

इधर घटना के बाद वन विभाग सक्रिय हुआ और विभागीय अमले ने जंगल मे घटना स्थल का मुआयना किया पोहरी के रेंजर शिशुपाल सिंह धाकड़ से iTaaza Khabar ने जब चर्चा की तो उन्होंने बताया कि प्राथमिक तौर पर वह तेंदुआ लगता है उसके पदचिन्हों के आधार पर भी हम पता लगा रहे है फिलहाल उन्होंने उसकी पुष्टि नही की वह हमलावर जानवर वाकई में तेंदुआ था। क्योकि जो वीडियो फुटेज सामने आये है उसमें जो जानवर दिख रहा है वह आकार और कद काठी में तेंदुआ लग रहा है लेकिन उंसका रंग और शरीर पर काले पीले धब्बे नही होने से संशय की स्थिति पैदा हो गई लगा कि वे भी कन्फर्म नही हो पा रहै हैं। रेंजर श्री धाकड़ ने यह भी कहा कि इस जंगली जानवर संभवतः जो तेंदुआ है उसकी इस क्षेत्र में आमद से हमने ढिंढोरी पिटवाकर लोगों से सावधान रहने की अपील भी करवाई हैं।

लेकिन i Taaza khabar ने इस मामले में वाईल्ड लाइव विशेषज्ञ डॉ उपेंद्र यादव को फुटेज भेजकर बात की तो उन्होंने बताया कि यह जंगली जीव तेंदुआ ही है कभी कभी जानवरों में जनरेटिंग प्रॉब्लम की वजह से यह चेंज आ जाता है या जिससे जानवरों और पक्षियों के रंग में बदलाव भी देखा जाता हैं उन्होंने बताया कि जिस तरह Recessive Genes की बजह से बाघ सफेद रंग के मिलते है उसी तरह इस Recessive जीन्स की बजह से इस तेंदुएं के रंग में भी बदलाव आ गया है संभवतः इस तेंदुएं में यह ग्रंथी सक्रिय हो गई है जिससे उंसके रंग रूप में जेनेटिक परिवर्तन आ गया और इसके शरीर की खाल से आम तेंदुए की तरह होने वाले काले पीले रंग के गोल धब्बे नही हैं। लेकिन उन्होंने इसके लियोपार्ड अर्थात तेंदुआ होने की पुष्टि की।

read more
मध्य प्रदेशशिवपुरी

रिटायर्ड डीएसपी सिकरवार को मारी गोली, हुए घायल हालत स्थिर

Retired DSP Sikarwar
  • रिटायर्ड डीएसपी सिकरवार को मारी गोली, हुए घायल हालत स्थिर

शिवपुरी – मध्यप्रदेश के शिवपुरी में रिटायर्ड डीएसपी सुरेश सिंह सिकरवार को कार में सवार होकर आये एक युवक ने गोली मार दी जो उनकी कनपटी के पास से निकल गई लेकिन उसके छर्रे उनके चेहरे गले के आसपास लगे जिससे वे घायल हो गये घटना के बाद आरोपी फरार हो गया घायल रिटायर्ड डीएसपी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उनकी हालत स्थिर बनी हुई है घटना का कारण जमीन विवाद से जुड़ा बताया जा रहा हैं।मामला शिवपुरी नगर के कोतवाली थाना क्षेत्र का हैं।

जानकारी मिली है कि शिवपुरी शहर की शिव कॉलोनी में एक जमीन को लेकर पुलिस के अधिकारी रहे सुरेश सिंह सिकरवार और छुन्ना सिंह चौहान के बीच काफी समय से विवाद चला आ रहा है। इसी के चलते आज छुन्ना सिंह चौहान के खिलाफ आईपीसी की धारा 327 के तहत मामला दर्ज किया गया और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

इस कार्रवाई से नाराज छुन्ना सिंह चौहान का 26 वर्षीय बेटा इंद्र प्रताप सिंह चौहान रात करीब साढ़े सात बजे अपने एक साथी के साथ उनके घर आया उस समय सुरेश सिंह सिकरवार घर के बाहर अलाव के नजदीक बैठे ताप रहे थे उन्हें देखकर इन्द्रप्रताप ने तुरंत पिस्टल निकाली और उनपर फॉयरिग कर दी गोली उनकी कनपटी के पास होकर गुजर गई, वही गोली के छर्रे सुरेश सिकरवार के चेहरे गाल और नाक पर लगे आरोपी युवक घटना के बाद तुरंत कार से फरार हों गये। बाद में उनके परिजन और अन्य लोग भी आ गये फिलहाल उन्हें इलाज के लिये स्थानीय सिद्धिविनायक अस्पताल ले जाया गया है, जहां उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है। जबकि कोतवाली थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी की खोजबीन शुरू कर दी है।


read more
मध्य प्रदेशशिवपुरी

पुलिस की बैजू गिरोह से मुठभेड़, अगवा मुंशी चरवाहा रिहा, एक डकैत पकड़ा

Dacait Encounter
  • पुलिस की बैजू गिरोह से मुठभेड़, अगवा मुंशी चरवाहा रिहा,

  • एक डकैत पकड़ा, सुनाजवीरा के जंगल मे पुलिस सर्चिंग जारी

शिवपुरी – शिवपुरी पुलिस ने 12 घंटे के अंदर बैजू डकैत गिरोह से हुए एक एनकाउंटर में ना केवल अगवा किये गये राजस्थान के चरवाहे मुंशी रेवाणी को डकैतों के चंगुल से मुक्त कराया बल्कि कुख्यात डकैत बैजू गुर्जर के एक साथी को भी पकड़ लिया है फिलहाल पुलिस की एडी टीम सहित 4 थानों की पुलिस कोलारस के सुनाजवीरा के घने जंगल मे सर्चिंग कर इस गिरोह को घेरने की कोशिश में जुटी हुई है।

मंगलवार की शाम 7 बजे कोलारस के बीजाभुजी माता इलाके से लगे सुनारवीजा के जंगल से राजस्थान के चरवाहा मुंशी रेवाणी और गणपत जाट का अपहरण बैजू गैंग ने किया था । बाद में मुंशी रेवाणी को छोड़ने की एवज में 10 लाख की फिरौती मांगने की सूचना के साथ उंसके साथी अपह्रत गणपत जाट को डकैतों ने छोड़ दिया था जिसने लौटकर फिरौती की बात बताई उंसके बाद शिवपुरी पुलिस सक्रिय हुई।

इस घटना के बाद शिवपुरी एसपी राजेश चंदेल ने तुरत फुरत जबाबी कार्यवाही के लिये कोलारस सुरवाया, खोड़ और तेंदुआ थाना पुलिस और दो एडी टीमें सुनाजवीरा के वन क्षेत्र में इस गैंग को पकड़ने उतारी थी आज सुबह तड़के इस पुलिस टीम का डकैतों से मुकाबला हो गया गिरोह ने घिरते देख पुलिस पर फायरिंग की जबाब में पुलिस ने भी जबाब दिया इस शार्ट एनकाउंटर में पुलिस ने अगवा किये गये मुंशी रेवाणी को डकैतों की गिरफ्त से छुटा लिया इस दौरान बैजू गिरोह के एक डकैत ने खुद को घिरता देख कर सरेंडर कर दिया।

एसपी राजेश चंदेल ने इसकीं पुष्टि करते हुए बताया कि फिलहाल पुलिस टीमें सुनाजवीरा के जंगल में बैजू गुर्जर गिरोह की तलाश में सर्चिंग कर रही हे।

read more
error: Content is protected !!