close

श्रीनगर

जम्मू-कश्मीरश्रीनगर

बर्फबारी के बीच राहुल गांधी की भावुक स्पीच, कहा कश्मीरियों और फोजियों के साथ मैंने भी अपने परिजनों को खोने का दर्द सहा है जो मोदी शाह ने नहीं सहा

Rahul Gandhi Speech at JK

श्रीनगर / भारत जोड़ों यात्रा के समापन अवसर पर राहुल गांधी ने तेज बर्फवारी के बीच लंबी स्पीच दी और भावुक होते हुए कहा कश्मीरियों और फिजियो की तरह मैने भी अपने परिवार के लोगों को खोने का दर्द सहा है मोदीजी और शाहजी ने यह दर्द नही सहा हैं।

भारत जोड़ों यात्रा के दौरान राहुल गांधी और अन्य पदयात्री 145 दिन तक चले और उन्होंने 3570 किलोमीटर की पदयात्रा की सोमवार को इस यात्रा के समापन पर श्रीनगर में एक सभा आयोजित हुई खास बात है सुबह से ही श्रीनगर में भारी बर्फबारी शुरू हो गई थी लेकिन कांग्रेस कार्यकर्ताओं और आमजनों में इसके बावजूद उत्साह और जोशखरोश की कमी नही थी सुबह से ही वे शेर ए कश्मीर स्टेडियम में लोग भारी संख्या में इकट्ठा हो गए, राहुल गांधी ने अपनी 35 मिनट की स्पीच में नरेंद्र मोदी अमित शाह का जिक्र करते हुए बीजेपी पर खुलकर हमला बोला।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा मैं जम्मू कश्मीर के लोगो को कुछ कहना चाहता हूं कि मैं हिंसा को समझता हूं और मैने हिंसा देखी है लेकिन जिन्होंने हिंसा नही देखी वह यह बात नही समझ पाएंगे जैसे नरेंद्र मोदीजी और अमित शाह जी और संघ के लोग जिन्होंने हिंसा नही देखी वे डरते है मैं गारंटी देता हू कि हम 4 दिन चले भाजपा का कोई भी नेता ऐसे नही चल सकता ऐसा नहीं है कि जम्मू कश्मीर के लोग उन्हे चलने नही देंगे लेकिन वह डरते है कश्मीरियों और फोजियों की तरह मैने भी अपनो को खोने का दर्द सहा है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि मेरी स्कायोरीटी ने कहा था कि आखिरी चार दिन आपको गाड़ी में चलना चाहिए मुझसे कहा गया पैदल चलने पर आप पर ग्रेनेड फेका जा सकता है मैने सोचा जो नफरत करते है मैं उन्हे क्यों न मौका दू मैंने कहा मैं चार दिन भी पैदल चलूंगा बदल दो इस टी शर्ट का रंग लाल करदो देखा जायेगा लेकिन जम्मू कश्मीर के लोगों ने ग्रेनेड नहीं दिल खोलकर प्यार दिया गले लगाया।

उन्होंने कहा यात्रा शुरू होने के समय मुझे थोड़ा अहंकार था वह उतर गया मैं सोचता था कि मैं वर्जिश करता हूं यह 3570 किलोमीटर की यात्रा आराम से कर लूंगा लेकिन एक हफ्ते बाद मुझे भी तखलीफ हुई लेकिन यात्रा के दौरान मिले लोगों के प्यार और उनकी उम्मीद ने मुझे आगे बड़ने का साहस दिया और आज यात्रा पूरी हुई हम लोगों में नफरत की बजाय प्यार का संदेश देने में कामयाब रहे।

भारी बर्फवारी के दौरान भी लोगों का जमावड़ा कम नहीं हुआ सुबह से ही लोगों की भीड़ देखी गई जबकि राहुल गांधी ने अपनी बहिन प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ इस बर्फवारी का पूरा लुत्फ लिया और एक दूसरे पर बर्फ डाली।

Image source: Twitter

read more
जम्मू-कश्मीरश्रीनगर

“भारत जोड़ों यात्रा” राहुल गांधी ने श्रीनगर के ऐतिहासिक लाल चौक पर तिरंगा फहराया, भारी भीड़ उमड़ी, कहा हालत सुधरे तो अमित शाह जम्मू से कश्मीर तक यात्रा करें

Bharat Jodo Yatra at JK

श्रीनगर/ कन्याकुमारी से शुरू हुई भारत जोड़ों यात्रा अपने लक्ष्य श्रीनगर पहुंचकर आज एक दिन पहले समाप्त हो गई कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने श्रीनगर के ऐतिहासिक स्थल लाल चौक पर तिरंगा झंडा फहराया। इस मौके पर उन्होंने कहा जम्मू कश्मीर में सिक्योर्टी सिचुएशन ठीक नही है यदि बीजेपी समझती है 370 हटने से यहां हालत सुधर गए है तो अमित शाह जम्मू से कश्मीर तक पदयात्रा करें विपक्षी एकता पर उन्होंने कहा यह विचाराधारा की लड़ाई है इसके खिलाफ विपक्ष एक साथ खड़ा है और वह लड़ेगा।

7 सितंबर को कन्याकुमारी से जम्मू कश्मीर तक भारत जोड़ों यात्रा का आव्हान किया गया था करीब 3570 किलोमीटर से अधिक दूरी तय करने वाली यह यात्रा आज समय से पहले 135 दिन में पूरी हो गई और श्रीनगर पहुंची और यहां के लालचोक स्थित घंटाघर पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराया इस मौके पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा सहित कांग्रेस के कई नेता भी मोजूद थे।इससे पूर्व यहां हजारों की संख्या में कश्मीर के वाशिंदों का हुजूम उमड़ आया। जो हिंदुस्तान जिंदाबाद और राहुल गांधी जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे।

इस मौके पर प्रेस कान्फ्रेस में राहुल गांधी ने कहा आज काफी अहम दिन है चलना खत्म हुआ और इस दौरान मुझे काफी कुछ सीखने को मिला सोमवार को मेन फंगशन है हमें विश्वास नही था ऐसा प्यार भरा रिस्पॉन्स मिलेगा मंहगाई बेरोजगारी किसान छोटे दुकानदार के मुद्दे उठाए और सभी की आवाज सुनने को मिली यह मेरी जिंदगी का सबसे गहरा रिश्ता बना और यह सुंदर एक्सपीरियंस रहा मैं उन सभी को धन्यवाद देना चाहता हूं जो हमसे जुड़े साथ ही पुलिस और सीआरपीएफ का भी धन्यवाद।

उन्होंने कहा यह यात्रा कांग्रेस की नही यह भारत की यात्रा थी आम जनता की थी इसमें नफरत और अहंकार के खिलाफ एक विजन था भाई चारे का, गले मिलने का, एक दूसरे का सम्मान करने का हिंदुस्तान के सामने जीने के दो रास्ते है एक लोगों को दबाने का दूसरा उन्हें दूसरा उन्हें जोड़ने का उन्होंने साफ किया कि यह यात्रा अभी समाप्त नहीं हुई है लोग गलतफहमी में ना रहे यह छोटी सी शुरूआत है मेरे दिमाक में और भी आइडियाज है जिन्हे फिलहाल बताने का समय नहीं हैं।

धारा 370 के सवाल पर उन्होंने कहा हमारी पार्टी वर्किंग कमेटी की मीटिंग में साफ कर चुकी है कि अभी धारा 370 हटाने का उचित समय नहीं था हम इस मामले में केंद्र के फैसले के खिलाफ हैं। उन्होंने एक सबाल पर कहा कि इस यात्रा का प्रभाव पूरे देश में पड़ा है लेकिन पश्चिम से पूर्व के जो हिस्से रह गए है हम इसपर भी सोचेंगे।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा बीजेपी सहित देश की जो पोल्टीकल क्लास है उसमें और आमजन में दूरियां बड़ती जा रही है जो मीडिया और प्रेसवार्ता तक सिमट कर रह गए है मैं चाहता हूं यह दूरी कम हो,साथ ही पहले अन वॉयस कोम्यूनीकेशन होता था अब एक तरफा भी हो गया है।जिससे जो चीज सामने आना चाहिए वह नहीं आती।

मीडिया के सबाल पर राहुल गांधी ने कहा धारा 370 हटने के बाद जम्मू कश्मीर की सिक्योरिटी सिचुएशन से मैं खुश नहीं हूं आए दिन टारगेट किलिंग हो रही है रोजाना बम ब्लास्टिंग की घटनाएं हो रही है यदि बीजेपी यह मानती है कि सिक्योरिटी सिचुएशन ठीक है तो गृहमंत्री अमित शाह खुद जम्मू से कश्मीर तक पैदल यात्रा करके दिखाएं तो मै इसे ठीक मानूंगा।

विपक्षी एकता में बिखराव के मुद्दे पर राहुल गांधी ने कहा आप यह किस आधार पर कह रहे है अपोजीशन यूनिटी आपस में चर्चा और एक विजन के बाद आती है डिफेरेंसिस की बात होती है लेकिन यह विचाराधारा की लड़ाई है और बीजेपी और आरएसएस की विचाराधारा के खिलाफ विपक्ष एकजुट होगा और एक साथ खड़ा होगा और लड़ेगा।

read more
जम्मू-कश्मीरश्रीनगर

कांग्रेस का “हाथ से हाथ जोड़ों” अभियान 26 जनवरी से, मोदी सरकार के खिलाफ चार्जशीट

Congress launches hath se hath jodo

श्रीनगर / भारत जोड़ों यात्रा के बाद अब कांग्रेस 26 जनवरी से “हाथ से हाथ जोड़ों” अभियान की शुरूआत कर रही है दो माह तक चलने वाले इस राजनेतिक कार्यक्रम के दौरान कांग्रेस के कार्यकर्ता देश में घर घर जाकर लोगों को मोदी सरकार की विफलताओं की एक चार्जशीट सौंपेंगे।

कांग्रेस प्रवक्ता जयराम नरेश और अन्य नेताओं ने प्रेस कान्फ्रेस में मिडिया को जानकारी देते हुए बताया कि कांग्रेस 26 जनवरी से 26 मार्च तक “हाथ से हाथ जोड़ों ” अभियान की शुरूआत करने जा रही है जिसके तहत कांग्रेस के कार्यकर्ता देश के 6 लाख गांव और ढाई लाख ग्राम पंचायतों की प्रत्येक पोलिंग बूथ के घर घर जाएंगे और देश के हर नागरिक को केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की गलत नीतियों और विफलताओं की जानकारी से संबद्ध एक चार्जशीट उन्हे देगें। दो माह तक चलने वाला यह कार्यक्रम पूरी तरह राजनेतिक होगा।

कांग्रेस ने इस “हाथ से हाथ जोड़ों ” अभियान के साथ कांग्रेस के चिन्ह का लोगों भी जारी किया है। इस अभियान के जरिए कांग्रेस का मकसद देश के हर मतदाता के घर तक पहुंच बनाने के साथ अपने कार्यकर्ताओ में उत्साह और नई ऊर्जा भरना हैं।

कांग्रेस की चार्जशीट में क्या हैं …

” हाथ से हाथ जोड़ों” अभियान के तहत सौपी जाने वाली चार्जशीट की टैग लाइन में निम्नलिखित प्रमुख बिंदु उल्लेखित है

  1. सबके साथ सबका विश्वासघात
  2. खुद के मन की बात और गरीब की पेट पर लात
  3. मांगा था अधिकार मिला सिर्फ अंधकार
  4. ना मान ना सम्मान महिलाओं का हुआ सिर्फ अपमान
  5. सत्ता की भूख ने किया लोकतंत्र का विनाश
  6. किसान मांगे सही दाम मोदी सरकार रही नाकाम
  7. मांगा पोषण हुआ शोषण मिला भाषण
  8. युवा मांगे रोजगार मोदी सरकार कराये इंतजार
read more
जम्मू-कश्मीरदेशश्रीनगर

जम्मू में 4 आतंकी मुठभेड़ में ढेर, ट्रक चालक फरार

Terrorist Killed in Encounter

श्रीनगर / जम्मू के सिदरा इलाके में सुरक्षा बलों की आतंकवादियों से हुई मुठभेड़ में 4 आतंकी मार गिराए गए है जबकि जिस ट्रक में छुपकर यह मिलीटेंस जा रहे थे उसे जब्त कर लिया गया है लेकिन ट्रक ड्राईवर फरार होने में कामयाब रहा जिसकी खोजबीन की जा रही है।

जम्मू के सिदरा क्षेत्र के मुहाने पर सुरक्षा बल आने जाने वाले वाहनों की चेकिंग कर रहे थे इस बीच एक संदिग्ध ट्रक को जब सुरक्षाबल के जवानों ने तलाशी के लिए रोकने की कोशिश की तभी ट्रक में सवार आतंकियों ने एकाएक सुरक्षा बल के जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी सुरक्षा बलों ने भी तुरंत पोजीशन लेकर ट्रक पर गोलीबारी शुरू कर दी कुछ देर बाद जब दूसरी तरफ से फायरिंग रुक गई तो सुरक्षा बल के जवान सावधानी से ट्रक की ओर बड़े और पास में जाकर जब देखा तो आतंकी ढेर हो चुके थे जबकि ट्रक ड्राइवर पुलिस बल को चकमा देकर फरार हो गया।

सुरक्षा बल के अधिकारियों के मुताबिक इस एनकाउंटर में 4 आतंकी मारे गए है उनसे आधुनिक हथियार भी बरामद हुए है जबकि फरार ट्रक चालक की तलाश जारी हैं।

read more
जम्मू-कश्मीरदेशश्रीनगर

शोपियां में आतंकियों ने दो प्रवासी मजदूरों की हत्या की, तीन दिन में घाटी में दूसरी टारगेट किलिंग

Encounter in Jammu Kashmir

श्रीनगर/ जम्मू कश्मीर के शोपियां में दो प्रवासी मजदूरों की सोते समय उनके घर में घुसकर आतंकवादियों ने गोली मारकर हत्या कर दी तीन दिन पहले आतंकियों ने एक कश्मीरी पंडित को अपना शिकार बनाया था इस तरह कश्मीर घाटी में यह दूसरी टारगेट किलिंग हैं।

कश्मीर के शोपियां में आतंकी घटनाएं एक बार फिर बड़ती जा रही है और अब एक बार फिर आतंकी टारगेट कर लोगों को निशाना बना रहे है मंगलवार की दर्मियानी रात शोपियां में एक घर में दो प्रवासी मजदूरों पर आतंकियों ने हमला किया पहले उनके घर पर ग्रेनेड फेका उसके बाद घर में घुसकर सोते समय इन मजदूरों पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी खबर मिलने पर घटना स्थल पर पुलिस बल पहुंचा और गंभीर रूप से घायल दोनों मजदूरों को अस्पताल में भर्ती कराया लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका दोनों की इलाज के दौरान मौत हो गई।

बताया जाता है यह दोनों मजदूर उत्तर प्रदेश के कन्नौज के रहने वाले है और इनके नाम रामसागर और मनीष कुमार है। जो यहां मजदूरी करने आएं थे दीपावली पर घर जाने वाले थे लेकिन उससे पहले ही उन बेकसूर मजदूरों की निर्ममता से हत्या कर दी गई

वादियों में चुन चुन कर आतंक वादी हमले कर रहे है हाल में 15 अक्टूबर को ही शोपियां में कश्मीरी पंडित पूरन कृष्ण भट की भी गोलियों से भूनकर आतंकियों ने हत्या कर दी थी उनपर आतंकी हमला तब हुआ जब वे अपने सेब के बाग में थे।

इधर जम्मूकश्मीर के एडीजीपी विजय कुमार का कहना है इस हमले के बाद पुलिस ने सर्चिंग कर घेराबंदी की और एक आतंकी को गिरफ्तार भी कर लिया है पुलिस को घटना स्थल से भी काफी साक्ष्य पुलिस को मिले है जल्द अन्य आतंकी भी पकड़े जायेंगे।

लेकिन घाटी में हो रही आतंकी हमलों और टारगेट किलिंग से स्थानीय लोग काफी दहशत है कर्मचारी भी डरे हुए है इसके चलते लोग लंबे समय से धरना प्रदर्शन कर रहे है एक महिला प्रदर्शनकारी का कहना है कि हिंदू राष्ट्र की बड़ी बड़ी बातें करने वाली मोदी सरकार इन तारागेट किलिंग पर खामोश क्यों है क्या यही है हिंदू राष्ट्र। जबकि एक कर्मचारी का कहना था कि हमारी जान खतरे में है हमारी मांग है कि हमें यहां से हटाकर जम्मू में नियुक्ति सरकार करें जिससे हम और हमारा परिवार सुरक्षित महसूस कर सके इसी मांग को लेकर हमारा धरना प्रदर्शन पिछले कई महीनों से जारी है।

इधर नेशनल कान्फ्रेंस के नेता फारुख अब्दुल्ला ने एक बयान में कहा है कि जब तक इंसाफ नहीं मिलेगा तब तक स्थितियां बदलेंगी नही उनके बयान परटवार करते हुए बीजेपी नेता कविंदर गुप्ता ने कहा मोदी सरकार के कार्यकाल में स्थितियां बेहतर हुई है लेकिन विपक्ष के बयानों से आतंक वादियों को शह मिलती है।

read more
जम्मू-कश्मीरश्रीनगर

एक था “जूम”, जो आतंकियों से लड़ते हुआ शहीद…

Zoom a Warrior

श्रीनगर/ भारतीय सेना का एक जांबाज अंग ऐसा भी है जो प्रशिक्षित होने के बाद अपनी जान पर खेल जाता है इस दौरान देश के खिलाफ आतंक फैलाने वाले तत्वों से भी बेखौफ जूझने से पीछे नहीं हटता और देश और हमारे जवानों की सुरक्षा में अपना सर्वस्व लगा देता है। ऐसा ही एक था “जूम” जो आतंकियों के खिलाफ एक ऑपरेशन में आतंकियों के गोली का शिकार बना लेकिन गंभीर रूप से घायल होने के बावजूद उसने अपना हमला और काम जारी रखा जिसके कारण दो आतंकवादियों का खात्मा हो सका लेकिन जांबाज “जूम” भी नही बच सका और शहीद हो गया।

तारीख 10 अक्टूबर, इलाका अनंतनाग जिले का कोकरनाग, सेना को खुफिया सूत्रों से जानकारी मिली कि कोकरनाग के एक घर में आतंकी छुपे हुए है सुरक्षा दल मिलिट्री डॉग जूम को लेकर वहां पहुंचा, सेना के जवानों के साथ डॉग हेंडलर ने घर के अंदर आतंबादियों की टोह लेने के लिए जूम को घर में दाखिल होने का इशारा किया, जूम जो बॉडी कैमरा और बॉकी टॉकी से लैश था बॉकी टॉकी से डॉग हैंडलर मेसेज भेजने के साथ डॉग को गाइड कर सकता था। निर्देश पाकर जूम तुरंत चुपके से इस घर में दाखिल हुआ और सूंघकर उसने एक कमरे में दुबके आतंकियों की गंध पा ली और वह उस और बढ़ा और उसने अपना ऑपरेशन शुरू कर दिया अचानक आतंकियों का जूम से आमना सामना हो गया उसे देखकर अतंकियो ने उस पर गोलियां बरसा दी जूम को दो गोली लगी लेकिन वह घायल होने के बाद भी रुका नहीं उसने अपने हैंडलर के माध्यम से उन आतंकी जो संख्या में दो थे उन की लोकेशन और उनके फुटेज सेना को भेज दिए और वह रुका या डरा नहीं उसने आतंवादियो को घेरने के साथ अपना हमला जारी रखा । अंदर की जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने अपना ऑपरेशन शुरू किया और एनकाउंटर शुरू हो गया दोनों ओर से फायरिंग शूरू हो गई आतंकियों की गोली से सेना के दो जवान घायल हो गए लेकिन सुरक्षा बलों ने भी दोनों दहशत गर्दो को मार गिराया जो लश्कर ए तयेबा के थे और किसी बड़ी आतंकी गतिविधि की फिराक में इस घर में छुपे हुए थे।

सुरक्षा बलों को ऑपरेशन के बाद जूम बुरी तरह घायल कमरे के पास मिला जिसे उसके हैंडलर के साथ तुरत फुरत सेना के पशु हॉस्पिटल में भेजा गया, इंडियन आर्मी के चिनार कॉर्प्स के अनुसार गोलियां लगने के बावजूद जूम आतंकियों लड़ता रहा और इस बीच मौका पाकर सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों को ढेर कर दिया।

इधर आतंकियोंं से मुठभेड़ में घायल मिलिट्री डॉग जूम श्रीनगर के सैन्य पशु अस्पताल में भर्ती था एक अधिकारी के मुताबिक गोली लगने से घायल जूम का ऑपरेशन किया गया था इलाज के दौरान वह अच्छी प्रतिक्रिया दे रहा था लेकिन वह अचानक जोर जोर से हांफने लगा और गिर गया और गुरुवार को इसकी मौत हो गई इस तरह अपने कर्तव्य को निभाते हुए मिलिट्री डॉग जूम हमेशा के लिए खामोश हो गया और देश की रक्षा में उसने अपना बलिदान दे दिया।

Warrior Dog Zoom
Warrior Dog Zoom
read more
जम्मू-कश्मीरश्रीनगर

जम्मूकश्मीर के डीजी जेल हेमंत लोहिया की बेरहमी से गला रेतकर निर्मम हत्या, आरोपी गिरफ्तार

DG Jail Hemant Lohia

श्रीनगर / जम्मूकाश्मीर के महानिदेशक जेल हेमंत कुमार लोहिया की उनके ही घरेलू नोकर ने धारदार हथियार से गला रेतकर बेरहमी से हत्या कर दी और उन्हे जलाने की कोशिश भी की खास बात है इन दिनों देश के गृहमंत्री अमित शाह जम्मू कश्मीर के दौरे पर है इस हाई प्रोफाइल हत्याकांड से सुरक्षा एजेंसियों में हड़कंप व्याप्त है। फिलहाल आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है जो डिप्रेशन का शिकार बताया जाता है जबकि आतंकी संगठन PAFF ने इस हत्या की जिम्मेदारी लेते हुए लेटर जारी किया है शाह के दौरे पर यह छोटा सा गिफ्ट हम कही भी कभी भी कुछ भी कर सकते हैं। लेकिन पुलिस इसको केवल आतंकी घटना से जोड़कर जांच नही कर रही बल्कि हर संभावना को देखते हुए मामले की तफ्तीश में जुट गई है।

सोमवार की शाम को डीजीपी जेल हेमंत कुमार लोहिया उड़ियावाला इलाके में अपने घर लौटे थे इन दिनों उनके निवास में कांस्ट्रेक्सन होने से वह परिवार सहित दोस्त के खाली मकान में रह रहे थे उन्होंने अपने घरेलू नौकर यासिर अहमद से कहा इनके पैर में दर्द हो रहा है वह तेल से मालिश कर दे नौकर ने तुरंत हामी भरी और तेल लेने बाहर गया और तुरंत लौटा और अंदर आते ही उसने दरवाजा अंदर से लॉक कर दिया और समझा जाता है नौकरने अचानक पलंग पर लेटे हुए डीजीपी गले पर धारदार हथियार से तेज हमला कर दिया और तीन चार बार किए और बाद में उन्हें जलाने की कोशिश भी की अचानक उनके चीखने और कमरे की खिड़की से धुआं निकलते देख सुरक्षा कर्मी दौड़ा और शोर मचाने पर परिजन भी आ गए किसी तरह दरवाजा तोड़ा गया लेकिन जब लोग अंदर दाखिल हुए तो डीजीपी की मौत हो चुकी थी। इस बीच आरोपी फरार हो गया।

इस हाई प्रोफाइल मर्डर के बाद इलाके में सनसनी फेल गई खबर मिलने ही वरिष्ठ पुलिस अधिकारी प्रशासन और एफएसएल टीम मौके पर पहुंची उसने अपनी तफ्तीश शुरू का दी पुलिस ने आसपास खोजबीन की तो पास ही कारनचक इलाके के एक खेत से छुपे हुए आरोपी यासिर अहमद को पुलिस ने पकड़ लिया पुलिस गिरफ़्तारी के बाद उससे गहन पूछताछ कर रही है।

बताया जाता है आरोपी यासिर रामबन का रहने वाला है और 6 महिने पहले ही डीजीपी के यहां नौकरी पर रखा गया था। पुलिस ने उसके पास से एक डायरी भी बरामद की है जिसमें अजीबोगरीब बातें लिखी है, साथ ही यासिर ने खुद को डिप्रेशन में होने का खुलासा भी किया है डायरी में उसने अंग्रेजी भाषा का प्रयोग करते हुए लिखा है लव 0% टेंशन 90% स्माइल 100%, जिंदगी की शुरूआत उम्मीदों पे खत्म अनुभव पर, एक जगह उसने आशिकी 2 के सेंड सॉग्स भी लिखे है।

इधर आतंकवादी संगठन PAFF ने इस हत्या की जिम्मेदारी लेते हुए एक चिट्ठी जारी की है जिसमे उसने लिखा है कि हमारे स्पेशल स्क्वार्डस ने उदियावाला में डीजी जेल एचके लोहिया की हत्या की है हिंदूवादी शासन और उसके सहयोगियों को चेतावनी देने के लिए हाई प्रोफाइल ऑपरेशन की यह शुरूआत है हम कही भी कही भी बेहद सटीक तरीके से हमला कर सकते हैं।

इधर जम्मू कश्मीर के ADG मुकेश सिंह जो मौके पर जांच करने पहुंचे थे उनके मुताबिक आतंकी हमले से जोड़कर हम फिलहाल नहीं देख रहे क्योंकि प्राथमिक तौर पर जो एवीडेंस मिले है उसमें उनके नौकर का हाथ इस हत्या में है जो डिप्रेशन का शिकार लगता है लेकिन उसने इस हत्या की वारदात को क्यों अंजाम दिया यह तहकीकात के बाद ही पता चलेगा।

read more
जम्मू-कश्मीरश्रीनगर

श्रीनगर में पुलिस पर आतंकी हमला, ASI मुश्ताक शहीद SPO सहित दो जख्मी, सुरक्षा बल की सर्चिंग जारी

Terrorist Killed in Encounter

श्रीनगर / जम्मूकश्मीर के श्रीनगर में आज आतंकवादियों ने पुलिस की नाकाबंदी पार्टी पर एकाएक हमला कर दिया इस आतंकी फायरिंग में एक ASI शहीद हो गए जबकि एक SPO सहित दो पुलिस कर्मी गोली लगने से जख्मी हो गए इस वारदात के बाद पुलिस और सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर सर्चिंग शुरू कर दी हैं।

श्रीनगर के लालबाजार इलाके के जीडी गोयनका स्कूल के पास यह आतंकी हमला हुआ पुलिस की नाकेबंदी पार्टी जब वाहन में इस क्षेत्र से गुजर रही थी इसी दौरान घात लगाकर आतंकवादियों ने अचानक पुलिस पार्टी पर तेज फायरिंग शुरू कर दी इस बीच पुलिस टीम ने भी पोजीशन ली लेकिन जबतक वे सम्हलते आतंकवादी हमला कर फरार हो गए इस आतंकी हमले में जम्मू कश्मीर पुलिस के एक ASI मुश्ताक अहमद गोली लगने से शहीद हो गए जबकि एक एसपीओ सहित दो पुलिस कर्मी गोलियां लगने से बुरी तरह जख्मी हो गए जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया हैं।

इस आतंकी हमले के बाद घटना स्थल के आसपास पुलिस और सुरक्षा बलों ने सर्चिंग शुरू कर आतंकवादियों की खोजबीन कर रही हैं। गंभीर बात है पिछले दिनों से पुलिस और सुरक्षा बल आतंकवादियों को निशाना बनाने के साथ उन्हे खदेड़ रहे थे लेकिन इस बार पुलिस पर आतंकवादियों ने हमला कर दिया। बताया जाता है इन दिनों जम्मू कश्मीर का पुलिस प्रशासन एहितियातन अमरनाथ यात्रा पर ज्यादा फोकस कर रहा हैं। लगता है इसी के चलते आतंकी फिर सिर उठाने लगे है जो गंभीर बात हैं।

read more
जम्मू-कश्मीरश्रीनगर

अमरनाथ गुफा के पास बादल फटा पानी के सैलाब में बहे लोग, 12 की मौत 40 लापता, रेस्क्यू आपरेशन जारी

Cloud burst at Amarnath

श्रीनगर / जम्मू-कश्मीर में अमरनाथ गुफा के पास आज अचानक बादल फट गए, यह बादल गुफा एवं काली माता मंदिर के बीच फटे है ऐसी जानकारी मिली है बादल फटने से इस पहाड़ी क्षेत्र में पानी का सैलाब आ गया जो मैदानी इलाके में बने केंपो में घुस गया और टेंट उखड़ गए लोगो को सम्हलने का मौका ही नहीं मिला और हड़कंप मच गया लोग इस पानी के बहाव में बहने लगे जानकारी के मुताबिक पानी के इस तूफान में 12 श्रृद्धालुओ की मौत और करीब 40 लोगो के लापता होने की जानकारी सामने आई है । जबकि प्रभावित इलाके में रेस्क्यू आपरेशन के साथ राहत और बचाव कार्य जारी है।

जिस समय यह प्राकृतिक आपदा आई उस समय गुफा के पास 10-12 हज़ार श्रद्धालु मौजूद थे। लेकिन यह सैलाब एक ऐसे स्थान पर आया जहा बाबा अमरनाथ के दर्शन करने आए श्रद्धालुओं के कैंप लगे थे अचानक यह पानी का सैलाब यात्रियों के टेंटों में घुस गया और 25 टेंट और लंगरों को उखाड़ फेका इस पानी के सैलाब में डूबकर 12 लोगो के मरने की खबर मिली है जबकि करीब 40 लोग लापता है इस प्राकृतिक हादसे के बाद एनडीआरएफ ITBP एसडीआरएफ और पुलिस की टीमें रेस्क्यू आपरेशन में जुटी है और गायब और फंसे हुए लोगों को निकालने के साथ राहत और बचाव कार्य में जुटे हुए हैं। जबकि तीन लोगो सुरक्षित निकाल लिया गया हैं। फिलहाल अमरनाथ यात्रा पर रोक लगा दी गई है।

श्राइन बोर्ड हेल्प लाइन नंबर 0194 23113149, हेल्पलाइन नंबर 011 23834251.

read more
श्रीनगर

जम्मू कश्मीर के कुलगाम में शिक्षिका के बाद आज बैंक मैनेजर की गोली मारकर हत्या, 27 दिन में आठवीं टारगेट किलिंग, कश्मीरी पंडितों में दहशत

Murdered

श्रीनगर – जम्मू कश्मीर इन दिनो सबसे अधिक बुरे दौर से गुजर रहा है यहां टारगेट किलिंग की वारदातें रुकने का नाम नही ले रही कुलगाम में आज आतंकियों ने एक बैंक मैनेजर विजय कुमार की गोलियो से भूनकर मार डाला पिछले 48 घंटे में यह दूसरी घटना है जिसमें आतंकियों ने एक निर्दोष शख्श की हत्या कर दी। इस तरह इस मई महिने में 7 टारगेट किलिंग सहित 27 दिन में यह आठवां मामला हैं।

जम्मू कश्मीर में दहशत फैलाने के लिये आतंकी संगठन लगातार टारगेट किलिंग कर हिंदुओं को निशाना बना रहे हैं यही बजह है काश्मीर में पिछले अक्टूबर 2021 से जारी गैर मुस्लिमों की हत्या का सिलसिला रुकने का नाम नही ले रहा 31 मई मंगलवार को आतंकियों ने कुलगाम में ही एक हिन्दू महिला शिक्षक रजनी बाला की हत्या कर दी रजनी बाला जैसे ही स्कूल जाने वाली गली में दाखिल हुई आतंकियों ने उंसका पहले नाम पूछा और नाम बताते ही उसके सिर में गोली मार दी जिससे वह गिर गई और आतंकी फरार हो गये इसके बाद स्थानीय लोग रजनी को अस्पताल लेकर गये लेकिन उसे बचाया नही जा सका और उन्होंने बीच रास्ते में ही दम तोड़ दिया।

और अभी रजनीबाला की चिता की आग ठंडी भी नही हुई कि आज सुबह आतंकियों ने एक बैंक मैनेजर की गोली मारकर हत्या कर दी। कुलगाम की इलाकाई देहाती बैंक (EDB) में आज सुबह 10.51 मिनट पर एक आतंकी दाखिल होता है और वह सीधे बैंक मैनेजर विजय कुमार को निशाना बनाकर पिस्टल से उनपर ताबड़तोड़ फायरिंग करता है और अंदर मौजूद लोग कुछ समझते वारदात को अंजाम देने के साथ वह तुरंत बाहर आता है बाहर बाइक पर सबार अपने साथी के साथ फरार हो जाता हैं। खून से लथपथ घायल बैंक मैनेजर को बैंक कर्मी अस्पताल लेकर जाते है लेकिन उनकी मौत हो जाती हैं।

यह सारी घटना बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो जाती है घटना के बाद पुलिस ने पूरे क्षेत्र की घेराबंदी कर ली और पुलिस सेना और सुरक्षा बलों ने मिलकर सयुक्त सर्चिंग ऑपरेशन शुरू कर दिया है।

इस तरह हाल पिछले 48 घंटे में काश्मीर में आतंकवादियों ने लगातार दूसरी वारदात को अंजाम दिया जबकि मई महिने में 7 टारगेट किलिंग के बाद यह आठवीं घटना है पिछले 5 महिने में 14 निर्दोष हिंदुओं को आतंकियों ने अपना निशाना बनाया है जहां तक मई की बात करें तो 7 मई को श्रीनगर में ऑफ ड्यूटी पर पुलिसकर्मी की हत्या, 12 मई को बड़गाम में कश्मीरी पंडित राहुल भट की हत्या 13 मई को ऑफ ड्यूटी पुलिस कर्मी रियाज अहमद की घर के बाहर हत्या, 17 मई बारामूला में रणजीत नामक स्थानीय व्यक्ति की हत्या, 24 मई को सैफुल्ला कादरी की घर के बाहर गोली मारकर हत्या, 25 मई को टीवी की महिला कलाकार आमरीन भट की बड़गाम में हत्या उसके बाद 31 मई मंगलवार को शिक्षिका रजनीबाला की गोली मारकर हत्या और 48 घंटे बाद आज 2 जून गुरूवार को कुलगाम में बैक मैनेजर विजय कुमार की आतंकियों व्दारा दिनदहाड़े बैंक में घुसकर हत्या शामिल है इस तरह पिछले 27 दिन में आतंकियों ने 8 लोगों को टारगेट कर निशाना बनाया हैं। जिससे साफ होता है कि आतंकी अब तेजी से चुन चुन कर आम लोगों को अपना निशाना बना रहे है जो गंभीर बात हैं।

इन हत्याओं को लेकर काश्मीर घाटी के हिंदू पंडितों में दहशत देखी जा रही है और यहां कार्यरत करीब 4 हजार सरकारी कर्मचारी सरकार से उन्हें यहां से सुरक्षित क्षेत्रों में भेजने की लगातार मांग कर रहे हैं और इस मांग को लेकर वे सड़कों पर उतर कर आंदोलन कर रहे हैं उनका कहना है यदि उन्हें यहाँ से बाहर नही निकाला गया तो वे मजबूर होकर यहां से पलायन कर जायेंगे।कश्मीरी हिंदुओ का यह विरोध करीब पिछले कई दिनों से लगातार जारी हैं जो यहां प्रवासी बनकर यहां नोकरी कर रहे हैं। वे आतंकी गतिविधियों के बड़ने और लगातार हो रही हत्याओं से वह मानसिक रूप से बेहद परेशान हैं।

read more
error: Content is protected !!