close
दिल्लीदेश

सरकार का चुनाव पूर्व अंतिम बजट पेश, शिक्षा और स्वास्थ्य के साथ किसान की बेहतरी के लिये बजट में कई नये प्रावधान

Arun-Jaitley

सरकार का चुनाव पूर्व अंतिम बजट पेश, शिक्षा और स्वास्थ्य के साथ किसान की बेहतरी के लिये बजट में कई नये प्रावधान

कांग्रेस ने चुनावी तो बीजेपी ने गरीब और किसानों को राहत देने वाला बताया बजट

नई दिल्ली-  बीजेपी सरकार ने आज अपना आम बजट को देश के सामने रखा,पर सबाल हैं कि चुनाव पूर्व का यह बजट बीजेपी को वोट दिलायेगा या फ़िर उसको चोट पहुंचायेगा। खास हैं घोषित बजट में इनकम टेक्स की दरों में कोई बदलाव नही हुआ तो सेस टेक्स में 1 फ़ीसदी की बढ़ोतरी की गई है लेकिन बजट में गांव गरीब के साथ किसान शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने पर खास ध्यान दिया गया हैं।वही बजट में 80 हजार करोड़ के विनिवेश का लक्ष्य रखा गया हैं।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज पेश होने वाले देश के आम बजट पर विस्तृत जानकारी दी, जिसमें किसान और खेती को बढावा देने पर खास ध्यान दिया गया, जिसमे किसान को उसकी फ़सल की लागत से ढेड गुना कीमत देने के साथ सरकार आलू प्याज और टमाटर की बर्वादी रोकने के लिये आँपरेशन ग्रीन चलायेगी जिसके तहत इस फ़सल का समुचित लाभ किसान को मिलेगा,इसके अलावा 50 हजार की कीमत की प्याज पर टेक्स की छूट रहेगी,बजट में गांव गरीब के उत्थान पर भी जोर दिया गया है 51 लाख ग्रामीणो को उनका अपना घर, उज्वला योजना में 8 करोड़ महिलाओं को मुफ़्त गैस कनेक्शन,सौभाग्य योजना में 4 करोड़ परिवारों को मुफ़्त बिजली कनेक्शन,नई शिक्षा नीति के तहत प्री नर्सरी से लेकर कक्षा 12 तक के सरकारी स्कूलो को माँडर्न करने के साथ एसटी छात्रों के लिये एकलव्य आवासीय स्कूल खोले जाने की योजना हैं बजट में रिसर्च स्कालर एवं बीटेक के छात्रों पर खास फ़ोकस रखा गया हैं सुविधाएं मुहैया कराने के साथ 2020 तक 50 हजार छात्रों को प्रति वर्ष स्काँलरशिप,इसके साथ सरकार ने 2018 तक 70 लाख युवाओं को रोजगार देने का लक्ष्य बजट में निर्धारित किया है।बजट में बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं पर भी जोर दिया गया हैं जिसके तहत किसी के बीमारी के बाद अस्पताल में भर्ती होने पर परिवार को 5 लाख की सहायता राशि देने का प्रावधान रखा गया हैं इसके अलावा हर जिले में डायलासिस सुविधा के साथ 10 करोड़ परिवारों का मुफ़्त मेडीकल बीमा का सीधा फ़ायदा देने को भी स्वीक्रति दी गई हैं।

बजट में स्टेन्डर्ड डिडेक्शन सिस्टम की फ़िर से शुरूआत की गई है जिसके तहत कुल सेलरी पर 40 हजार का स्टेन्डर्ड डिडेक्शन का बजट रखा गया हैं।जिसमें कोई पेपर की जरूरत नही होगी,बजट में जहां इनकम टेक्स की दरों और छूट में कोई बदलाव नही हुआ तो सेसा जो पहले 3 फ़ीसदी था उसमें एक फ़ीसदी बढोतरी की गई हैं और अब सेसा 4 फ़ीसदी लगेगा।

वही बजट में शेयर धारको और नौकरीपेशा के टेक्स में इजाफ़ा किया गया है,विदेशी मोबाइल टीवी पर टेक्स बडाया गया है तो कृषि उत्पादक कंपनीयों को टेक्स में छूट दी गई हैं और कंपनियों के कार्पो टेक्स में भी कमी की गई है।रेल्वे स्टेशनों पर एक्सेलेटर, टीवी एवं बाँय फ़ाँय सुविधा देने का भी प्रावधान किया गया है, नये एयरपोर्ट बनाने की योजना और उसकी राशि भी बजट में शामिल की गई हैं।वही बजट में देश में बिटकाँइन करेन्सी के चलन पर रोक की बात भी कही गई हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बजट पर ट्विट कर अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि 4 साल बाद भी बीजेपी सरकार सिर्फ़ वायदे कर रही हैं किसान गरीब परेशान हैं नोजवानो को रोजगार नही मिल रहा अब बचे हुए एक साल में बीजेपी केवल ख्याली पुलाव के जरिये देश वासियों को बहलाने की कोशिश कर रही हैं।

वही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बजट पर खुशी जाहिर करते हुए कहा हैं कि इस बजट से गरीब को फ़ायदा होगा और किसान की आमदनी बड़ेगी।

admin

The author admin

Leave a Response