close
ग्वालियरमध्य प्रदेश

जनता की समस्या लेकर पहुंचे पूर्व विधायक धरने पर बैठे पूर्व विधायक को निगम कमिश्नर ने कराया गिरफ्तार बड़े अपराधी की तरह घसीटकर पुलिस ने बलपूर्वक किया गिरफ्तार समर्थकों को दिए धक्के

no thumb
नलों में रहा गन्दा पानी, जनता की समस्या लेकर पहुंचे पूर्व विधायक 
धरने पर बैठे पूर्व विधायक को निगम कमिश्नर ने कराया गिरफ्तार
बड़े अपराधी की तरह घसीटकर पुलिस ने बलपूर्वक किया गिरफ्तार 
समर्थकों को दिए धक्के , पार्टी का कोई बड़ा नेता नहीं पहुंचा मौके पर 
 

ग्वालियर—  मध्यप्रदेश शासन द्वारा जनता की समस्याओं के निपटारे के लिए चलाई जा रही जनसुनवाई नगर निगम के लिए मजाक बनकर रह गई है।  यहाँ निगम कमिश्नर अनय द्विवेदी के हठीले फैसलों के चलते जनता की समस्या की सुनवाई नहीं होती। . ऐसा ही एक मामला मंगलवार को हुआ जब उपनगर ग्वालियर और हजीरा क्षेत्र के कुछ लोग जिनमे ज्यादातर महिलाएं शामिल थी , नलों में आ रहे गंदे पानी को बोतल में भरकर निगम मुख्यालय पहुंची तो निगम कर्मचारियों ने मुख्य द्वार बंद  कर दिया और उन्हें जन सुनवाई में नहीं जाने दिया।

खास बात ये है कि इसमें एक ऐसी बूढी महिला भी शामिल  थी जिसने कुछ दिन पहले ही गंदे पानी के कारण हुए पीलिया से अपनी बहु को खोया है।  समस्या लेकर पहुंची महिलाओं के मुताबिक उनके घरों में  ज्यादातर लोग संक्रामक बीमारियों के शिकार है। . निगम अफसर और पार्षद कोई सुनवाई नहीं करते।  क्षेत्रीय लोगों के निगम मुख्यालय पहुँचने की सूचना  लगते ही पूर्व  विधायक प्रद्युम्न सिंह तोमर भी पहुँच गए और जब उन्होंने दबाव बनाया तब कही जाकर मुख्य द्वार खोला गया। पूर्व विधायक ने आरोप लगाया कि  करोड़ों रुपये मैंने पानी और सीवर के नाम पर नगर निगम को अपने कार्यकाल में  दिलवाये है लेकिन निगम अफसरों ने उन्हें बाँट खाया।

 उन्होंने कहा कि जब तक समस्या का निराकरण नहीं हो जाता यहीं धरने पर बैठा रहूंगा। करीब चार घंटे तक निगम कमिश्नर अनय द्विवेदी के सामने उनके चेंबर में धरने बैठे पूर्व कांग्रेस विधायक प्रद्युम्न सिंह ने धरना समाप्त नहीं किया तो कमिश्नर ने एसपी को फोन कर पुलिस को बुला लिया और एडिशनल एसपी के साथ सीएसपी ने भारी दलबल के साथ कमिश्नर के चेंबर से ही कुर्सी समेत पूर्व विधायक को उठा लिया और किसी अपराधी की तरह घसीटते हुए उन्हें कार्यालय के बाहर ले आये और पुलिस वाहन में अपने साथ ले गए।
इस दौरान पूर्व कांग्रेस विधायक के साथ मौजूद रहे समर्थक नेताओं को पुलिस ने ना सिर्फ धक्का दिया बल्कि हल्का बल प्रयोग कर वहां से खदेड़ दिया । गिरफ्तारी  की पुष्टि करते हुए सीएसपी एसएस जादौन ने बताया कि शासकीय कार्य में बाधा सहित अन्य कई धाराओं के साथ पूर्व विधायक को गिरफ्तार किया गया है उधर गिरफ्तार पूर्व विधायक प्रद्युम्न सिंह  तोमर ने कहा कि कमिश्नर अनय द्विवेदी ने मेरा घर तुड़वाने की धमकी दी है लेकिन मैं  परवाह नहीं करता , मेरा संघर्ष इसी तरह जारी रहेगा।  इस पूरे घटनाक्रम की खास बात ये रही कि कांग्रेस का कोई  भी जिला पदाधिकारी या बड़ा नेता वहां नहीं पहुंचा।  जिससे कांग्रेस की गुटबाजी खुलकर सामने आ गई
admin

The author admin

Leave a Response