close

राजस्थान

राजस्थान

रेप मामले में दोषी आसाराम को उम्र कैद की सजा, शरद और शिल्पी को 20 – 20 साल की सजा

asaram
  • रेप मामले में दोषी आसाराम को उम्र कैद की सजा,
  • शरद और शिल्पी को 20 – 20 साल की सजा,
  • दो आरोपी प्रकाश और शिवा बरी

जोधपुर / जोधपुर की अदालत ने बलात्कार मामले के आरोपी आसाराम बापू को दोषी माना है और आसाराम को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है अब बाकी जिंदगी उन्हें जेल के सीखचों के पीछे ही बितानी होगी इसके साथ ही शरद और शिल्पी को 20- 20 साल की सजा अदालत ने दी है। वही प्रकाश और शिवा को रिहा किये जाने का फ़ैसला कोर्ट ने सुनाया है।

खास बात हैं मामले की सुनवाई के लिये जोधपुर की सेन्ट्रल जेल में आज विशेष अदालत लगाई गई थी। समझा जाता है सुरक्षा की दृष्टि से यह फ़ैसला लिया गया और यह चौथी बार है कि जब किसी मामले की सुनवाई के लिये जेल में अदालत लगी हो, आसाराम पर एक लाख का जुर्माना भी लगाया गया है।

जैसा कि आसाराम के गुरुकुल की एक नावांलिग छात्रा ने आसाराम पर आरोप लगाया था कि तबियत ठीक करने के बहाने आसाराम ने उसके साथ 15 अगस्त 2013 की रात जोधपुर के मणाई गांव स्थित आश्रम में छेड़छाड़ के साथ योन शोषण की घटना को अंजाम दिया था पीडिता ने 20 अगस्त 2013 को दिल्ली के पुलिस थाने में आसाराम के खिलाफ एफ़ आई आर दर्ज कराई थी, पुलिस ने आसाराम के खिलाफ़ पाक्सो एक्ट और अन्य धाराओं में अपराधिक प्रकरण दर्ज किया गया, इसके बाद 14 धाराओं के तहत1200 पन्नों की चार्जशीट कोर्ट में पेश की गई। इस दौरान मध्यप्रदेश से आसाराम बापू को पुलिस ने गिरफ़्तार किया था और पिछले 4 साल 8 माह से आसाराम जोधपुर के सेन्ट्रल जेल में बंद हैं।इनके साथ इनके सहयोगी शरद शिल्पी प्रकाश और शिवा को भी गिरफ़्तार किया गया था।

इस मामले में 9 गवाह बने जिन्होंने इस प्रकरण में कोर्ट में आसाराम के इस दुष्कृत्य के खिलाफ़ गवाही दी लेकिन इन गवाहों में शामिल अखिल गुप्ता सहित तीन लोगों की मौत हो गई वही अन्य पर भी धमकी और जानलेवा हमले हुएं। आसाराम के लाखों समर्थको के कारण पुलिस और प्रशासन ने सुरक्षा के खासे इंतजामात किये चार राज्यों राजस्थान, हरियाणा गुजरात और मध्यप्रदेश में हाई एलर्ट जारी किया गया और जोधपुर में धारा 144 लगाई गई साथ ही आसाराम के देश में सभी आश्रमों के आस पास भी व्यापक सुरक्षा व्यवस्था की गई। जिससे राम रहीम की सजा के दौरान घटी घटनाओं की पुनरावृत्ति ना हो सके। इस दौरान आसाराम के समर्थको पर पुलिस और प्रशासन की खास निगाह रही। इसी के चलते जोधपुर की जेल में आसाराम प्रकरण की अंतिम सुनवाई और सजा का ऐलान करने के लिये जज मधुसूदन शर्मा की आज विशेष अदालत लगी।

जोधपुर कोर्ट में एक घंटे तक गर्मागर्म बहस चली और आसाराम के वकील ने उनके पक्ष में दलील रखी और उनकी बीमारी और बढती उम्र का हवाला देते हुए उन्हें माफ़ी या कम से कम सजा देने का अनुरोध अदालत से किया गयी वही अभियोजन पक्ष के वकील ने इसको गम्भीर मामला बताते हुए आसाराम को कडी से कडी सजा देने की मांग की।

कोर्ट ने आसाराम बापू सहित शरद और शिल्पी को भी कोर्ट ने योन उत्पीड़न मामले में दोषी करार दिया है कोर्ट ने आसाराम को आजीवन कारावास दिया है और एक लाख का जुर्माना भी लगाया है सजा के ऐलान के तुरंत बाद आशाराम कोर्ट में जज के सामने ही फ़ूट फ़ूट कर रोने लगे,जबकि शरद और शिल्पी को 20 – 20 साल की सजा का ऐलान अदालत ने किया है।वही अन्य दो अरोपी प्रकाश और शिवा को अदालत ने निर्दोष बताते हुए रिहा करने के आदेश जारी किये हैं।

सुनवाई के दौरान आसाराम ने घबराहट और मितली की शिकायत की जेल प्रबंधन ने तबियत के बिगड़ने की खबर के बाद तुरन्त एम्बूलेन्स बुलाई लेकिन डाँक्टरों ने उनको देखा लेकिन उनके अस्पताल ले जाने की जरूरत से इंकार कर दिया। खबर मिली है कि आसाराम इस मामले को अपर कोर्ट में चुनौती देंगे, ऐसा उनके वकील का कहना है।

read more
देशमुंबईराजस्थान

फ़िल्म स्टार सलमान को मिली जमानत, 50 घंटे बाद जेल से रिहा सेशन कोर्ट में अगली सुनवाई 7 मई को, फ़ैंस में भारी खुशी

Salman Khan
  • फ़िल्म स्टार सलमान को मिली जमानत,
  • 50 घंटे बाद जेल से रिहा सेशन कोर्ट में अगली सुनवाई 7 मई को,
  • फ़ैंस में भारी खुशी

जोधपुर / फ़िल्म अभिनेता सलमान खान को जोधपुर सेशन कोर्ट से जमानत मिल गई,जिससे उनके परिवार और फ़ैन्स में खुशी छा गई हैं पूरे 50 घंटे बाद सलमान जेल से रिहा हो गये।मुंबई पहुंचने पर सलमान के घर के बाहर उनकी एक झलक पाने उनके चाहने वालों का सैलाव उमड़ पड़ा। और इस खुशी में जगह जगह जश्न मनाने की भी खबर हैं।

सेशन कोर्ट ने सीजेएम कोर्ट के फ़ैसले के खिलाफ सलमान खान की जमानत की अपील स्वीकार्य कर ली,जज रवीन्द्र कुमार जोशी ने सलमान खान को काले हिरण शिकार मामले में 50 हजार के निजी मुचलके और दो गवाहों के 25 – 25 हजार रु.के मुचलके पर जमानत दे दी।कोर्ट ने सलमान खान के विदेश जाने पर रोक लगादी है इसके लिये उन्हें कोर्ट से अनुमति लेना अनिवार्य होगा।सेशन कोर्ट ने सीजेएम कोर्ट के फ़ैसले के खिलाफ सलमान की अपील स्वीकार कर ली है और कोर्ट ने इसकी अगली सुनवाई की तारीख 7 मई मुकर्रर की है।

सेशन कोर्ट में सलमान के वकील ने अपनी दलील में कहा कि मेडीकल बोर्ड की रिपोर्ट में काले हिरण की गन शाट से मौत की सिर्फ़ सम्भावना प्रकट की गई है पुष्टि के लिये हिरण की खाल और हड्डीयां को विधि विग्यान प्रयोगशाला भेजने के आदेश कोर्ट ने दिये थे लेकिन उन्हें भेजा ही नही गया।इसके अलावा हड्डी पर गन शाट के निशान नही पाये गये,उनके वकील ने कहा कि 20 साल से सलमान जमानत पर है और उन्होंने कभी भी कोर्ट के आदेश की अवहेलना नही की वही वे पूर्व के मामलों में रिहा हो चुके है इसलिये वे जमानत के हकदार है। जबकि अभियोजक पक्ष के वकील ने कहा कि सलमान के खिलाफ चश्मदीद गवाह ने गवाही दी और बरामदगी भी हुई है और निचली अदालत ने उन्हें 5 साल की सजा भी दी है। दौनो पक्षों को सुनने के बाद कोर्ट ने कहा कि लंच के बाद फ़ैसला सुनाया जायेंगा। लंच के बाद जज श्री जोशी ने सलमान की सजा निलम्बन का आवेदन स्वीकार करते हुए उनकी सजा पर रोक लगादी और उन्हें जमानत पर रिहा किये जाने का आदेश दे दिया।

जैसा कि “हम साथ साथ है” फ़िल्म की शूटिंग के लिये सलमान खान जोधपुर आये थे इस दौरान 27 सितम्बर 1998 की रात सैफ़ अली खान सोनाली बेन्द्रे ,तब्बू, नीलम के साथ यह लोग कांकणी गाँव पहुंचे थे और आरोप है कि सलमान ने अपनी गन से काले हिरणों के झुंड पर फ़ायर किए जिससे दो काले हिरणों (ब्लेक बक) की मौत हो गई थी बाद में वहां के विश्नोई समाज की पहल पर 2 अक्टूबर 98 में सलमान और अन्य छह लोगों के खिलाफ वन्य प्राणी अधिनियम की धारा 51/9 52/9 के तहत मामला दर्ज किया गया था। जोधपुर के सीजीएम कोर्ट ने गत 5 अप्रेल 2018 को सलमान खान को 5 साल की सजा दी थी और सैफ़ अली खान,सोनाली नीलम तब्बू सहित सभी छह लोगों को संदेह का लाभ देते हुए रिहा कर दिया था।

खास बात है 20 साल पुराने कांकणी काले हिरण शिकार मामले में सलमान खान पूरे 20 दिन ही जेल में रहे।

read more
देशमुंबईराजस्थान

काले हिरण शिकार मामले में फ़िल्म स्टार सलमान खान को 5 साल की सजा

Salman Khan
  • काले हिरण शिकार मामले में फ़िल्म स्टार सलमान खान को 5 साल की सजा,
  • सैफ़्,सोनाली,तब्बू और नीलम को कोर्ट ने बरी किया

जोधपुर / 20 साल पहले के काले हिरण शिकार मामले में फ़िल्म अभिनेता सलमान खान को कोर्ट ने 5 साल की सजा सुनाई है साथ ही उनपर 10 हजार का जुर्माना भी लगाया है सलमान को सजा सुनाने से पहले कोर्ट ने इस मामले के सह अभियुक्त फ़िल्म अभिनेता सैफ़ अली खान फ़िल्म अभिनेत्री सोनाली बेन्द्रे,तब्बू और नीलम चारों को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया हैं।

करीब 11 बजे फ़िल्म स्टार सलमान खान और,सैफ़ अली खान,अभिनेत्री सोनाली बेंन्द्रे, तब्बू और नीलम जोधपुर के सीजेएम कोर्ट पहुंचे और जस्टिस देव कुमार खत्री के सामने पेश हुए,करीब 15 मिनट की सुनवाई के बाद सबूतों के अभाव में संदेह का लाभ देते हुए कोर्ट ने सैफ़ सोनाली,तब्बू और नीलम को बरी कर दिया और उसके कुछ समय बाद सलमान को काले हिरण शिकार मामले में दोषी करार दिया, जब सलमान को कोर्ट ने दोषी माना उस दौरान सलमान रो पड़े उन्होंने तुरंत आँखों पर चश्मा लगा लिय उस समय साथ खड़ी बहिन अलवीरा ने उनके कंधे पर हाथ रखकर दिलासा दी और उन्हें पानी पिलाने के साथ डिप्रेशन की गोली भी खिलाई।

इसके बाद सलमान के वकील ने 20 साल पुराने इस मामले की सुनवाई के दौरान सलमान की लगातार उपस्थिति का हवाला दिया और उन्हें संदेह का लाभ देने के साथ कम से कम सजा दिये जाने का अनुरोध कोर्ट से किया लेकिन सरकारी वकील ने आदतन अपराधी बताने के साथ शिकार को गम्भीर मामला बताते हुए उन्हें ज्यादा से ज्यादा सजा दिये जाने की बात अपनी बहस में कही।करीब 2 बजे जोधपुर सीजेएम कोर्ट के जस्टिस माननीय देवकुमार खत्री ने सलमान खान को 5 साल की सजा का ऐलान किया,और 10 हजार का जुर्माना लगाया।

यदि 3 साल तक की सजा होती तो उन्हें इसी कोर्ट से जमानत मिल जाती पर अब ऐसा कुछ नही है। सजा के बाद सलमान के साथ कोर्ट में मौजूद उनकी दौनो बहनें अलवीरा और अर्पिता रोने लगी। इसके बाद सलमान खान को पुलिस ने हिरासत में ले लिया और कडी सुरक्षा के बीच पुलिस उन्हें सीधा जोधपुर सेन्ट्रल जेल ले जायेंगी।

जैसाकि काला हिरण लुप्तप्राय वन्य जीव है जो शिड्युल वन ,संरक्षित वन्य प्राणी की श्रेणी में आता है 1998 में 26 – 27 सितम्बर की दर्मियानी रात जोधपुर के भावाद कांकोडी़ गाँव के पास इन्होंने दो काले हिरणों का शिकार किया था जब “हम साथ साथ है” फ़िल्म की शूटिंग के लिये फ़िल्म की टीम जोधपुर आई थी इसके बाद 2 अक्टूबर को विश्नोई समाज की पहल पर पुलिस ने वन्य प्राणी अधिनियम की धारा 9/51,9/52 के तहत फ़िल्म अभिनेता सलमान खान,सैफ़ अली खान फ़िल्म अभिनेत्री सोनाली बेन्द्रे, तब्बू, और नीलम के खिलाफ़ वन्य प्राणी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया था जिसमे सलमान को हिरणों को गोली से मारने के लिये मुख्य आरोपी और अन्य चारों को उसे उकसाने के आरोप में सह आरोपी बनाया गया था।सलमान पर चार एफ़ आई आर दर्ज की गई थी।जिसमे दो में उन्हें एक और 5 साल की सजा मिली ,इस दौरान वे 18 दिन जेल में भी बिता चुके है तीसरे आर्म्स एक्ट के मामले में उन्हें 2017 में कोर्ट ने रिहा कर दिया था। आज जिसकी सुनवाई आज हुई यह चौथा और अन्तिम मामला है ।

read more
राजस्थान

काले हिरण शिकार मामले में फ़िल्म स्टार सलमान खान दोषी करार, जल्द सजा का होगा ऐलान्, सैफ़, सोनाली, तब्बू ,नीलम बरी

Salman Khan
  • काले हिरण शिकार मामले में फ़िल्म स्टार सलमान खान दोषी करार
  • जल्द सजा का होगा ऐलान्, सैफ़, सोनाली, तब्बू ,नीलम बरी

जोधपुर / जोधपुर की कोर्ट ने फ़िल्म स्टार सलमान खान को काले हिरण शिकार मामले में दोषी माना है और जल्द ही उनकी सजा का ऐलान होगा इस मामले में एक से छह साल तक की सजा का प्रावधान है यदि तीन साल तक की सजा उन्हें होती है तो उन्हें जमानत मिल सकती है।

लेकिन तीन साल से ज्यादा सजा सुनाई जाती है तो सलमान खान को जेल जाना होगा। वही इस मामले के सह आरोपी सैफ़ अली खान सोनाली बेन्द्रे तब्बू और नीलम चारो को संदेह का लाभ देते हुए अदालत ने सभी को बरी कर दिया है जैसा कि 20 साल पहले सन् 1998 का यह मामला है।जब सलमान और अन्य फ़िल्म स्टर फ़िल्म “हम साथ साथ है” कि शूर्टिंग के लिये राजस्थान के जोधपुर में थे।

read more
राजस्थान

राजस्थान एनआरआई एसोसियेशन ने ब्रिटेन में पद्मावती के प्रदर्शन पर रोक की माँग की

padmavati

राजस्थान एनआरआई एसोसियेशन ने ब्रिटेन में पद्मावती के प्रदर्शन पर रोक की माँग की

जयपुर–  राजस्थान एनआरआई एसोसियेशन ने ब्रिटेन में पद्मावती फ़िल्म के प्रदर्शन पर रोक लगाने की माँग की है एसोसियेशन ने इंगलेण्ड हाईकमान को एक चिट्ठी लिखकर यह माँग की हैं जबकि ब्रिटेन में फ़िल्म के प्रदर्शन की अनुमति मिल गई हैं ।

जैसा कि राजस्थान से ही करणी सैना ने पद्मावती फ़िल्म में इतिहास से छेड़छाड़ करने का आरोप लगाकर अपने आंदोलन का शंखनाद किया था साथ ही उसे घूंघर वाला गाना जो पद्मावती पर फ़िल्माया गया हैं उस पर भी घोर आपत्ति है करणी सैना ने फ़िल्म के डायरेक्टर संजय लीला भंसाली को इसके लिये दोषी बताते हुए इस फ़िल्म पर बेन लगाने की माँग की हैं धीरे धीरे क्षत्रिय राजपूत समाज की यह माँग पूरे उत्तर भारत के साथ देश में भी उठने लगी । इसी का नतीजा रहा कि खासकर जिन प्रान्तो में बीजेपी की सरकारे है राजस्थान पंजाब उत्तर प्रदेश मध्यप्रदेश सहित अब गुजरात में भी इस फ़िल्म के प्रदर्शन पर रोक लगाने का ऐलान कर दिया गया हैं जबकि पद्मावती फ़िल्म की रिलीज फ़िलहाल टाल दी गई हैं । अब राजस्थान की एनआरआई एसोसियेशन ने ब्रिटेन में पद्मावती फ़िल्म के प्रदर्शन पर रोक लगाने की मा़ँग की हैं ।

खास बात हैं कि देश के सेंसर बोर्ड ने फ़िलहाल फ़िल्म को प्रदर्शन का सार्टीफ़िकेट नही दिया है ना ही इस फ़िल्म को देखा ही गया हैं जबकि फ़िल्म के डायरेक्टर भंसाली का कहना है उन्होंने रानी पद्मावती के इतिहास से किसी तरह की छेड़छाड़ या उसे बदलने का कोई प्रयास नही किया है यह फ़िल्म चित्तोड़गढ़ की रानी पद्मावती के शोर्य साहस और वीरता की मिसाल के रूप में पेश की गई हैं इधर यह मामला सुप्रीम कोर्ट में भी पहुंच गया है और 28 नवम्बर को इसकी सुनवाई हैं ।

read more
राजस्थान

बलात्कार का आरोपी फ़लहारी बाबा अलवर से गिरफ़्तार

rapist

अलवर – राजस्थान के अलवर में एक निजी अस्पताल में भर्ती योन शोषण के आरोपी फ़लहारी बाबा को पुलिस ने आज गिरफ़्तार कर लिया है इस तरह पुलिस की पकड़ से बचने के लिये की गई बाबा की नौटंकी काम नही आ सकी।

छत्तीसगढ़ की एक लड़की ने फ़लहारी बाबा उर्फ़ कोशलेन्द्र महंत पर बलात्कार करने की शिकायत की थी और पुलिस ने बाबा के खिलाफ धारा 376 और 366 के तहत एफ़ आई आर दर्ज की थी, और आज बाबा को राजस्थान के अलवर स्थित एक निजी अस्पताल से गिरफ़्तार कर लिया है, बताया जाता है उक्त बाबा पुलिस से बचने के लिये अस्पताल में भर्ती हो गया था जबकि उस अस्पताल के डाँक्टर के मुताबिक बाबा पूर्ण स्वस्थ्य है।

बताया जाता है कानून की पढ़ाई कर रही लड़की बाबा के प्रति श्रद्धावश अपनी स्कालरशिप की मिली तीन हजार की राशि भैट करने गई थी तब बाबा ने उसे अपने रसूख का हवाला देते हुएं जज बनवाने का प्रलोभन दिया था और ना मानने पर बाबा ने उसके साथ जबरन बलात्कार किया यह घटना रक्षाबन्धन के दिन की बताई जा रही है वही पीड़िता के पिता ने खुलासा किया कि बाबा अपने को सन्यासी बताता है जबकि यह शादीशुदा है इसकी माया नाम की एक बेटी भी है और यह अपने को काफ़ी रसूखदार बताता है और आईएएस आईपीएस, नेताओ और मन्त्रियो से खास सम्बन्ध बताकर रोब झाड़ता था और नौकरी दिलाने और कोई भी काम कराने का दांवा भी करता था।

उत्तर प्रदेश के कोशाम्भी का रहने वाले बाबा फ़लिहारी का राजस्थान के अलवर में भव्य आश्रम है जहां यह अपना दरबार सजाता है इसका एक भांजा सारी व्यवस्थायें देखता है खास बात है बाबा के साथ देश के ग्रहमंत्री राजनाथ सिंह मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह के फ़ोटो भी है जिसको फ़लहारी बाबा अपने पास आने वाले समर्थको को दिखाकर उन्हें प्रभावित करता था।

read more