close

दिल्ली

दिल्ली

शादी करने से इंकार पर की मेजर की पत्नि शैलजा की हत्या, आरोपी मेजर निखिल पुलिस हिरासत में

Police Arrested
  • शादी करने से इंकार पर की मेजर की पत्नि शैलजा की हत्या,
  • आरोपी मेजर निखिल पुलिस हिरासत में

नई दिल्ली / सेना के मेजर की पत्नि शैलजा व्दिवेदी हाई प्रोफ़ाइल हत्याकांड की गुत्थी दिल्ली पुलिस ने सुलझा ली हैं पुलिस ने हत्या के आरोपी शैलजा के करीबी दोस्त सेना के मेजर निखिल हांडा को मेरठ से गिरफ़्तार कर लिया हैं खुलासा हुआ हैं कि यह प्रेम प्रसंग का मामला था और निखिल शैलजा पर शादी का दबाव बना रहा था इस बीच दौनो में झगड़ा हुआ और निखिल ने चाकू से गला काटकर उसकी हत्या कर दी।

दिल्ली पुलिस को शैलजा की लाश कल नारायणा थाना क्षेत्र में सड़क पर मिली थी शरीर का निचला हिस्सा किसी वाहन से कुचला गया था, पुलिस की तफ़्तीश में सामने आया कि शैलजा का गला कटा हुआ हैं। और मौत के बाद उसे हादसे का रूप दिया गया हैं पुलिस को जानकारी मिली की पेर में तखलीफ़ के चलते शैलजा सेना के बेस हॉस्पिटल गई थी और उसके बाद उसका शव मिला, पुलिस ने हॉस्पिटल से अपनी जॉच शुरू की तो वहाँ के सीसीटीवी फ़ुटेज में निखिल हांडा शैलजा को अपनी होन्डा सिटी कार से लेजाता दिखा वही शैलजा के पति मेजर अमित व्दिवेदी ने पुलिस को दी जानकारी में पहले निखिल पर शक भी जताया था। पुलिस ने जब निखिल को पकडने की कोशिश की तो वह अपने घर से गायब मिला।

दिल्ली पुलिस के मुताबिक उसे मोबाइल फ़ोन से निखिल के मेरठ में होने की जानकारी मिली और उसे वहां से गिरफ़्तार कर दिल्ली लाया गया।पुलिस ने प्रेस कान्फ़्रेस में बताया कि उससे पूछताछ में जानकारी मिली कि दौनो में नजदीकी रिश्ते थे, निखिल शैलजा पर शादी करने का दबाव बना रहा था और शैलजा इसके लिये राजी नही थी कार में ही दौनो के बीच झगड़ा भी हुआ ना मानने पर गुस्साएं निखिल ने पतले चाकू से उसकी गर्दन पर हमला कर दिया और गला रैतकर हत्या करने के बाद शैलजा को सड़क पर डालकर उसके ऊपर अपनी कार चडा़ दी और उसे एक्सीडेंट का रूप देने की कोशिश की, पुलिस के मुताबिक उसके पास निखिल के खिलाफ पर्याप्त सबूत है पुलिस ने उसकी होन्डा सिटी कार को बरामद कर लिया हैं जिसपर उसे खून और कार के टायरो पर खून और शारीरिक अंग के अवशेष मिले हैं वही पुलिस ने घटना में प्रत्युत एक चाकू बरामद कर लिया हैं जिसपर उसे खून के निशान मिले हैं वही एक अन्य चाकू और शैलजा का मोबाइल की वह तलाश कर रही हैं।पुलिस ने बताया कि निखिल के काल डिटेल से मालूम हुआ कि दौनो के बीच करीब रोजाना ही बातचीत होती थी।

पुलिस ने बताया कि निखिल हत्या के बाद पहले हॉस्पिटल गया फ़िर घटना स्थल पर गहमा गहमी देखने लौटा उसके बाद घर गया और देर रात मेरठ रवाना हो गया था, जहां वह पहले पदस्थ भी रह चुका है,पुलिस का अनुमान हैं कि दौनो के बीच अवैध संबंध भी हो सकते हैं।

शैलजा के पति अमित व्दिवेदी भी सेना में मेजर के पद पर हैं जो आजकल नागालैण्ड के दीनापुर में पदस्थ हैं दौनो की शादी 2009 में हुई थी, जबकि निखिल शैलजा का दोस्त था और 2015 से इनकी पहचान हुई थी, जानकारी के मुताबिक शैलजा मिसेज इन्डिया प्रतियोगिता की मॉडल भी रही है। अमित और शैलजा का एक 6 साल का बेटा भी हैं।

read more
दिल्लीदेश

पीडीपी सरकार जम्मूकश्मीर में आतंकी गतिविधियों को रोकने में असमर्थ रहने से लिया बीजेपी ने समर्थन वापस

BJP Press Conference

पीडीपी सरकार जम्मूकश्मीर में आतंकी गतिविधियों को रोकने में असमर्थ रहने से लिया बीजेपी ने समर्थन वापस

नई दिल्ली / बीजेपी ने कहा कि जम्मूकाश्मीर में महबूबा सरकार आतंकी गतिविधियों पर अंकुश लगाने में नाकामयाब रही इसी कारण से बीजेपी पीडीपी सरकार को दिया अपना समर्थन बापस ले रही हैं।

बीजेपी प्रवक्ता राम माधव ने कहा कि राज्य सरकार का यहाँ की हालत को सुधारने का जो दायित्व था उसमे वह असफ़ल रही हैं साथ ही आतंक और आतंकवादियो पर अंकुश लगाने और अच्छा वातावरण निर्मित करने में पीडीपी और महबूबा मुफ़्ती सरकार नाकामयाब रही इसलिये गठबन्धन सरकार में बीजेपी को आगे चलना असम्भव हो गया हैं यही पीडीपी से समर्थन बापस लेने का कारण बना।

read more
जम्मू-कश्मीरदिल्लीदेश

बीजेपी ने समर्थन वापस लिया जम्मूकाश्मीर में पीडीपी सरकार गिरी, मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने दिया इस्तीफा

Jammu Kashmir CM Mehbooba Mufti
  • बीजेपी ने समर्थन वापस लिया जम्मूकाश्मीर में पीडीपी सरकार गिरी,
  • मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने दिया इस्तीफा

नई दिल्ली / बीजेपी ने जम्मूकश्मीर में सत्तासीन पीडीपी सरकार से आज अपना समर्थन बापस ले लिया हैं जिससे वहां काबिज मुफ़्ती सरकार गिर गई हैं। इसके बाद महबूबा मुफ़्ती ने जम्मू काश्मीर के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा दे दिया हैं।

इधर नेशनल कान्फ़्रेस के नेता उमर अब्दुल्ला ने जम्मूकश्मीर में सरकार बनाने से इंकार कर दिया हैं साथ ही कांग्रेस ने भी यही मंशा जाहिर की हैं। जबकि केन्द्रीय ग्रहमंत्री राजनाथ सिंह के निवास पर एक हाई लेबल मीटिंग चल रही हैं जिसमे भविष्य की रणनीति पर विचार विमर्श हो रहा हैं। जबकि इस राजनीतिक घटनाक्रम के चलते जम्मूकश्मीर में राष्ट्रपति शासन की सम्भावनाएं प्रबल हो गई हैं।

read more
दिल्ली

जम्मूकश्मीर में सीजफ़ायर का फ़ैसला सरकार ने वापस लिया, आतंक के खिलाफ अॉपरेशन जारी रहेगा कहा राजनाथ सिंह ने

Rajnath Singh
  • जम्मूकश्मीर में सीजफ़ायर का फ़ैसला सरकार ने वापस लिया,
  • आतंक के खिलाफ अॉपरेशन जारी रहेगा कहा राजनाथ सिंह ने

नई दिल्ली / जम्मू काश्मीर में रमजान के दौरान किया गया युद्ध विराम का फ़ैसला वापस ले लिया गया हैं इस तरह जम्मूकश्मीर में सीजफ़ायर खत्म कर दिया गया हैं अब पहले की तरह आतंकवादियों के खिलाफ चलाया जा रहा अॉपरेशान जारी रहेगा, केन्द्रीय ग्रहमंत्रालय की तरफ़ से किये गये ट्वीट में यह जानकारी दी गई हैं।

इस तरह आतंकवातियो के खिलाफ चलाया जा रहा आपरेशन आल आउट फ़िर शुरू होगा जिससे आतंकवादी और उनकी गतिविधियों पर अंकुश लग सकेगा। इस मामले में केन्द्रीय ग्रहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि रमजान के पवित्र महिने के दौरान सीजफ़ायर का फ़ैसला सरकार ने लिया था उसको बापस ले लिया गया हैं और सुरक्षा बलों का आतंकवादियों के खिलाफ अॉपरेशन जारी रहेगा राजनाथ सिंह ने सीजफ़ायर के दौरान सुरक्षा बलों के धेर्य की भी तारीफ़ की।

मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने सरकार से मांग की थी कि रमजान के पवित्र महिने में जम्मूकाश्मीर में आतंकवादियो के खिलाफ अॉपरेशन और हिंसा पर रोक लगादी जाये जिससे लोग अच्छा महसूस कर सके। इसके बाद 17 मई को सरकार ने जम्मूकाश्मीर में सीजफ़ायर की. घोषणा की थी। लेकिन इसके उलट, आतंकवादियो और पाकिस्तान की गतिविधियों और अधिक बढ गई इसी के चलते सैना के जवान औरंगजेब का अपहरण करने के बाद आतंकवादियो ने उसकी हत्या करदी और काश्मीर के वरिष्ठ पत्रकार शिराज बुखारी को भी मौत के घाट उतार दिया,जिससे साफ़ हैं कि युद्ध विराम का उलटा प्रभाव जम्मूकाश्मीर में पडा और आतंकवादियो के हौसले और अधिक बुलंद हो गये।जबकि महबूबा मुफ़्ती ने सीजफ़ायर की मियाद बड़ाने की मांग सरकार से की थी। इन दो हत्याओं ने देश को झकझोर कर रख दिया था लगता हैं सरकार ने इन घटनाओं के मद्देनजर ही सीजफ़ायर सस्पेन्ड का फ़ैसला वापस ले लिया।

read more
दिल्लीदेश

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालत में सुधार फ़िलहाल अस्पताल में ही रहेंगे

Atal bihari Vajpayee
  • पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालत में सुधार
  • फ़िलहाल अस्पताल में ही रहेंगे

नई दिल्ली / पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालत में लगातार सुधार हो रहा हैं लेकिन फ़िलहाल उन्हें अस्पताल से छुट्टी नही दी जायेगी, एम्स के मेडीकल बुलेटिन में इस आशय की जानकारी देते हुए कहा गया कि श्री वाजपेयी की सेहत अब पहले से अच्छी हैं और उनके स्वास्थ्य में सुधार हो रहा हैं और एम्स के डॉक्टरों की टीम बराबर नजर रखे हुए हैं लेकिन उन्हें अभी देखरेख की खास जरूरत हैं इसलिये श्री वाजपेयी को अस्पताल में ही रखा जायेंगा।

आज पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह,आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगोडा सहित अनेक नेता उन्हें देखने एम्स पहुंचे और श्री वाजपेयी के स्वास्थ्य की जानकारी ली।

read more
दिल्ली

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी एम्स में भर्ती, हालत स्थिर, प्रधानमंत्री मोदी, राहुल गांधी सहित कई नेता सेहत की जानकारी लेने एम्स पहुंचे

Atal bihari Vajpayee
  • पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी एम्स में भर्ती, हालत स्थिर
  • प्रधानमंत्री मोदी, राहुल गांधी सहित कई नेता सेहत की जानकारी लेने एम्स पहुंचे

नई दिल्ली / पूर्व प्रधानमंत्री और भाजपा के दिग्गज नेता अटल बिहारी वाजपेयी की तबियत बिगड़ने पर आज उन्हें नई दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया हैं एम्स के निदेशक डॉ. ऱंजीत बुलेरिया के मुताबिक उनकी हालत स्थिर हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सहित कई दिग्गज नेता वाजपेयी को देखने एम्स पहुंचे।

पूर्व प्रधानमंत्री श्री वाजपेयी को आज सुबह स्वास्थ्य परीक्षण के लिये एम्स लाया गया था रूटिन चेकअप और कुछ टेस्ट होने के बाद उनको डिस्चार्ज किया जाना था दोपहर 2 बजे एम्स के स्पेशल बुलेटिन में जानकारी दी गई कि उनकी हालत स्थिर हैं और पहले से ही पूर्व प्रधानमंत्री का इलाज करते आये एम्स के निदेशक डॉ रंजीत बुलेरिया की निगरानी में उनका इलाज चल रहा है और डॉ. बुलेरिया बराबर उनकी हालत पर नजर रखे हुएं हैं। बताया जा रहा हैं कि आज रात उन्हें एम्स में डॉक्टरों के ओव्जरवेशन में ही रखा जायेगा साथ ही यह भी जानकारी मिली हैं कि श्री वाजपेयी दी जा रही दवाईयों पर रिस्पोन्ड कर रहे हैं फ़िलहाल यह अच्छी खबर हैं।अब कल सुबह 9 बजे एम्स के औपचारिक बुलेटिन में उनके स्वास्थ्य की जानकारी दी जायेगी।

सबसे पहले शाम 4 बजे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पूर्व प्रधानमंत्री को देखने एम्स पहुंचे और उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली,इसके बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री के.पी.लड्डा ,ग्रह मंत्री राजनाथ सिंह,वरिष्ठ नेता लालकृष्ण अडवानी एम्स श्री वाजपेयी की सेहत की जानकारी लेने पहुंचे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी एम्स पहुंचे और करीब एक घंटे रुके इस दौरान प्रधानमंत्री ने डॉक्टरों से बातचीत कर वाजपेयी की सेहत की जानकारी ली। पूर्व प्रधानमंत्री का हालचाल जानने एम्स में आने जाने वालों का तांता लगा रहा।

जैसा कि 93 वर्ष के श्री वाजपेयी 13 अप्रेल 2005 से बीमार हैं करीब 13 सालो से उनका इलाज चल रहा है उन्हें जब भारत रत्न से नवाजा गया था तब तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने उन्हें उनके दिल्ली स्थित आवास पर देश के इस सर्वोच्च सम्मान से विभूषित किया था, उस समय उनको सभी ने देखा लेकिन आज हर भारतवासी अपने प्रिय नेता और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की एक झलक देखने को तरस गया है, और उनकी दीर्घ आयु की कामना कर रहा हैं।

read more
दिल्ली

प्रणव की बेटी शर्मिश्ठा ने पिता के आरएसएस के कार्यक्रम में जाने पर आपत्ति दर्ज कराई, कहा बीजेपी में जाने की बजाय वे राजनीति छोड़ना पसंद करेंगी

sharmishtha-mukherji and Pranab mukherji
  • प्रणव की बेटी शर्मिश्ठा ने पिता के आरएसएस के कार्यक्रम में जाने पर आपत्ति दर्ज कराई,
  • कहा बीजेपी में जाने की बजाय वे राजनीति छोड़ना पसंद करेंगी

नई दिल्ली / पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की बेटी शर्मिश्ठा मुखर्जी ने अपने पिता के आरएसएस के कार्यक्रम में शरीक होने पर आपत्ति दर्ज कराई हैं उन्होंने कहा उन्हें इस कार्यक्रम में शिरकत नही करना चाहिए थी, अपने बीजेपी में शामिल होने की खबर पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि वे कांग्रेस में ही रहेंगी और बीजेपी में जाने की बजाय राजनीति छोड़ना ज्यादा पसंद करेगी, शर्मिश्ठा ने कहा कि मैं कांग्रेस में उसकी विचारधारा और उसकी नीतियों के कारण हूं,कांग्रेस नेता ने अपने पिता को इंगित करते हुए आगे कहा कि, मेरे बीजेपी में जाने के ट्वीट से मैं हैरान हूं और बताना चाहती हू कि आरएसएस और बीजेपी झूठा प्रचार और झूठी झबरें गढने में कितनी माहिर हैं।

उन्होंने कहा कि आरएसएस के कार्यक्रम के दौरान जो तस्वीरे सामने आई हैं वे सदैव बनी रहेंगी लेकिन आज प्रणव दा का जो भाषण होगा उसे लोग भूल जायेंगे।

read more
दिल्लीदेश

गन्ना किसानों को राहत, सरकार ने दिया 8.500 करोड़ का पैकेज, डाक कर्मियों के भत्ते भी बड़े, कैराना की हार से बीजेपी ने लिया सबक

pm-bjp-gujarat-assembly
  • गन्ना किसानों को राहत, सरकार ने दिया 8.500 करोड़ का पैकेज,
  • डाक कर्मियों के भत्ते भी बड़े, कैराना की हार से बीजेपी ने लिया सबक

नई दिल्ली / देश के गन्ना किसानों को सरकार ने आज बड़ी राहत देने का ऐलान किया हैं दिल्ली में आज केन्द्रीय सरकार की केबीनेट की बैठक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई जिसमें किसानों की गन्ना उत्पाद की कीमत और उनके लम्बे समय से चले आ रहे बकाया भुगतान पर विचार विमर्श हुआ, बैठक में गन्ना किसान और चीनी सेक्टर के लिये 8.500 करोड़ का पैकेज देने पर आम सहमति बनी। इसके साथ ही केबीनेट ने डाक कर्मियों के भत्ते बड़ाने का भी निर्णय लिया,जैसा कि डाक कर्मचारियों की भत्ता बड़ाने की लम्बे समय से मांग थी।

गन्ना किसानों को मिले इस भारी भरकम पैकेज से साफ़ हैं कि हाल के उपचुनावों में बीजेपी को इन गन्ना किसानों के गुस्से का खामियाजा भुगतना पड़ा था,खासकर उत्तर प्रदेश के कैराना में वहां के गन्ना किसानों ने बीजेपी के खिलाफ वोट दिया था जिससे कैराना लोकसभा में हुए उपचुनाव में उसे हार का सामना करना पड़ा था और सपा बसपा और कांग्रेस ने राष्ट्रीय लोकदल को अपना समर्थन देकर उसके उम्मीदवार को जीत दिलादी थी। गोरखपुर फ़ूलपुर के बाद कैराना में मिली इस तीसरी हार से योगी और मोदी सहित बीजेपी की काफ़ी किरकिरी हुई थी

read more
दिल्लीभोपालमध्य प्रदेश

मध्यप्रदेश की मतदाता सूचियों में गड़बड़ी, 60 लाख फ़र्जी मतदाता कांग्रेस ने चुनाव आयोग से की शिकायत, आयोग ने दिये जांच के आदेश

Voting
  • मध्यप्रदेश की मतदाता सूचियों में गड़बड़ी,
  • 60 लाख फ़र्जी मतदाता कांग्रेस ने चुनाव आयोग से की शिकायत,
  • आयोग ने दिये जॉच के आदेश

नई दिल्ली, भोपाल / कांग्रेस ने आज मध्यप्रदेश की मतदाता सूची में गड़बड़ी की शिकायत दिल्ली में चुनाव आयोग को की है कांग्रेस का गम्भीर आरोप हैं कि प्रदेश की मतदाता सूचियों में करीब 60 लाख फ़र्जी मतदाता जोड़े गए हैं, कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा की मध्य प्रदेश की आबादी 24% बड़ी है, लेकिन 46% का इजाफा किआ गया है, आयोग ने इस मामले को काफ़ी गम्भीरता से लिया हैं।इसकी जॉच के आदेश दिये हैं।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया आज दिल्ली स्थित चुनाव आयोग के दफ़्तर पहुंचे और मध्यप्रदेश की मतदाता सूचियों में भारी गड़बड़ी की शिकायत की और जानकारी दी कि इन मतदाता सूचियों में 60 लाख मतदाता फ़र्जी हैं साथ ही सूचियों में भारी अनियमितताएं भी हैं।

आयोग ने उनकी शिकायत पर तुरंत सग्यान लेते हुएं इसकी उच्च स्तरीय जॉच के आदेश दिये हैं जिसके तहत 4 जून को चुनाव आयोग के वरिष्ठ अधिकारियों के नेतृत्व में एक जॉच दल सम्बन्धित क्षेत्रों नरेला, रायसेन और भोजपुर में आयेगा और वहां की मतदाता सूचियों की जॉच करेगा साथ ही हौशंगाबाद,सिवनी मालवा की मतदाता सूचियों की भी आयोग जॉच करेगा। बताया जाता है यदि गड़बड़ी पाई जाती हैं तो सम्बन्धित अधिकारियों पर कडी कार्यवाही होगी।

read more
दिल्लीदेशमध्य प्रदेश

दस दिनी किसान आंदोलन शुरू दस राज्यों में खासा असर दूध और सब्जियां सड़कों पर फ़ैकी, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम, कर्ज माफ़ी फ़सल का डेढ़ गुना मूल्य देने की सरकार से मांग

Farmers Strike
  • दस दिनी किसान आंदोलन शुरू दस राज्यों में खासा असर दूध और सब्जियां सड़कों पर फ़ैकी,
  • सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम, कर्ज माफ़ी फ़सल का डेढ़ गुना मूल्य देने की सरकार से मांग

नई दिल्ली,भोपाल/ किसानों का दस दिन का आंदोलन कल से शुरू हो गया मध्यप्रदेश सहित देश के 10 राज्यों में इसका असर देखा गया खास बात रही कि कही भी कोई अप्रिय घटना नही हुई और आंदोलन पूरी तरह शान्ति पूर्ण रहा,जबकि प्रदेश सरकारों ने आंदोलनकारियों के उग्र होने पर सुरक्षा के व्यापक इन्तजामात किये थे, इस दौरान किसानों के हजारों लीटर दूध और सब्जियां सड़को पर फ़ैकने की खबर हैं।

मध्यप्रदेश,राजस्थान, पंजाब, हरियाणा महाराष्ट्र उत्तर प्रदेश कर्नाटक केरल जम्मूकाश्मीर सहित देश के दस राज्यों में इस आंदोलन का खासा असर देखा गया,किसान कल्याण मजदूर महासंघ सहित देश के 130 किसान संगठन एक से दस जून तक चलने वाले इस किसान आंदोलन में शामिल हैं।उनकी प्रमुख मांगो में स्वामीनाथन आयोग की सिफ़ारिशे लागू करने के साथ पूर्ण कर्जमाफ़ी,फ़सल की लागत का ढेड गुना मूल्य, किसानो को पेन्शन देने की मांग शामिल हैं।

पिछली बार मन्दसौर में 6 किसानों की मौत की घटना के मद्देनजर मध्यप्रदेश सरकार ने 10 जून तक हाई अलर्ट जारी किया है।पुलिस कर्मियों की छुट्टियां रद्द कर दी हैं संवेदनशील इलाकों में 15 हजार का अतिरिक्त बल तैनात किया हैं साथ ही 18 जिलो में स्पेशल एक्शन फ़ोर्स की 18 कंपनियों के 5 हजार जवान लगाये हैं।

मध्यप्रदेश के भोपाल नरसिंहपुर अशोकनगर विदिशा होशंगाबाद हरदा दमोह सहित करीब ढेड दर्जन जिलो में किसान आंदोलन का असर साफ़ देखा गया किसान घरों पर रहे और दूध और सब्जी लेकर शहर या मन्डियों में नही गये,इस दौरान कोई उपद्रव तोड़फ़ोड़ या हिंसा की कोई खबर नही हैं।जबकि नयागांव मंदसौर मार्ग सहित कुछ जगह दूध बहाने और सब्जियां छीन कर फ़ैकने की जानकारी मिली हैं लेकिन प्रदेश के अधिकांश शहरों में सब्जियो की कीमत कुछ जरूर बड़ी लेकिन दूध और सब्जियों की कमी कही भी नही देखी गई जबकि हरियाणा पंजाब महाराष्ट्र सहित कई प्रान्तो में काफ़ी दूध सड़को पर बहाने के साथ सब्जियां भी फ़ैकी गई। सब्जियों को उठाकर लेजाते तो लोग दिखे लेकिन दूध पूरा बर्बाद हो गया यदि किसान दूध बहाने की बजाय जरूरतमंदो या गरीबो को मुफ़्त में बॉट देते तो यह किसानों का सकारात्मक कदम होता।

इधर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश का किसान संतुष्ट और खुशहाल हैं यह किसान आंदोलन कांग्रेस का प्रायोजित कार्यक्रम हैं उनका आरोप हैं कि सत्ता के लिये तड़फ़ रही कांग्रेस को आज किसान याद आ रहे हैं जो प्रदेश में हिंसा फ़ैलाकर अराजकता लाना चाहती हैं जिसे हम बर्दाश्त नही करेंगे।

जबकि किसान कल्याण मजदूर महासंघ के अध्यक्ष शिवकुमार शर्मा कक्काजी का कहना हैकि किसानो का यह आन्दोलन शान्तिपूर्ण हैं सरकार अशांति फ़ैलाने की कोशिश ना करे, सरकार लगातार वायदाखिलाफ़ी कर रही हैं और उससे चर्चा का कोई औचित्य नही हैं यदि सरकार किसानों की मांगों को मान जाती हैं तो आंदोलन समाप्त किया जा सकता हैं।

Image source: Hindustan Times
read more