close

गुजरात

गुजरात

नरोदा पाटिया दंगा केस में माया कोडवानी बरी, बाबू बजरंगी की आजीवन कारावास की सजा बरकरार, हाईकोर्ट का फ़ैसला

Maya Kodani
  • नरोदा पाटिया दंगा केस में माया कोडवानी बरी,
  • बाबू बजरंगी की आजीवन कारावास की सजा बरकरार, हाईकोर्ट का फ़ैसला

अहमदाबाद / गुजरात – हाईकोर्ट ने 16 साल पुराने नरोदा पाटिया दंगा मामले में मंत्री रही माया कोडनानी को संदेह का लाभ देते हुए आज बरी कर दिया, लेकिन बजरंग दल के नेता बाबू बजरंगी की आजीवन कारावास की सजा बरकरार रखी है।

गुजरात के नरोदा पाटिया में 2002 में दंगा भड़का था, जिसमें 97 लोगों की मौत हो गई थी पुलिस ने गुजरात सरकार में उस समय मंत्री रही माया कोडनानी और बजरंग दल के नेता बाबू बजरंगी सहित 32 लोगों को आरोपी बनाया था निचली अदालत ने इस मामले में 29 लोगों को सबूत के अभाव में छोड़ दिया था वही माया कोडवानी को 28 साल की सजा और बाबू बजरंगी सहित अन्य को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। इन सभी ने अपनी सजा के खिलाफ गुजरात हाईकोर्ट में अपील की थी जिसमे आज आये फ़ैसले में माया कोडनानी को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया गया जबकि बाबू बजरंगी की सजा को एच सी ने बहाल रखा है।माया को बरी किये जाने के पीछे तथ्य है कि पुलिस उनकी दंगा स्थल पर मौजूदगी के कोई सबूत पेश नही कर सकी कोर्ट में उन्हें संदेह का लाभ मिला और वे बरी कर दी गई।

माया कोडनानी को बरी किये जाने पर म्रतको के परिजनों ने गुस्सा जाहिर किया है उनका कहना है हमारे छोटे छोटे बच्चों को भी आताताइयों ने नही बख्शा उन्हें पेट्रोल डाल कर फ़ूंक दिया गया। इसके लिये माया कोडवानी को दोषी बताते हुए उन्हें छोड़ दिये जाने पर परिजनों ने कड़ा ऐतराज जताया है। इधर मानवाधिकार कार्यकर्ता जावेद आनंद ने माया कोडनानी को बरी किये जाने परे हैरानी जताई है उनका कहना है कि कोडनानी के भडकाऊ भाषण के बाद ही दंगे की आग भडकी थी जिसके बाद बेरहमी से लोगों को मार डाला गया।उन्हें छोड़ने पर उन्होंने आश्चर्य जताया है।

जावेद आनंद ने कहा कि इसका कारण है कि माया कोडनानी के खिलाफ एक दो नही, बारह लोगों ने बयान दिये थे जो उनका अपराध पुख्ता करते थे।

read more
गुजरात

मेरी आवाज दबाने के साथ मेरे एनकाउन्टर की साजिश रची जा रही हैं: प्रवीण तोगड़िया

Pravin Togadia

मेरी आवाज दबाने के साथ मेरे एनकाउन्टर की साजिश रची जा रही हैं… कहा तोगड़िया ने

अहमदाबाद – विश्व हिन्दू परिषद के नेता डाँ. प्रवीण तोगड़िया ने आज मीडिया के सामने कहा कि मेरी आवाज दबाने के साथ मेरा एनकाउन्टर करने की साजिश रची जा रही है तोगड़िया ने कहा कि सेन्ट्रल आई बी राजनैतिक दबाव के चलते मेरे पीछे पडी हैं। इस दौरान अपनी बात करते करते तोगड़िया की आँखों से एकाएक आँसू गिरने लगे।

तोगड़िया ने कहा कि वे हिन्दुओं की एकता का प्रयास करते रहे हैं और करते रहेंगे, लेकिन कुछ समय से मेरी आवाज दबाने का प्रयास किया जा रहा हैं परसों में एक कार्यक्रम के बाद जब कार्यालय पहुंचा तो एक व्यक्ति ने मुझे बताया कि मेरा एनकाउन्टर किया जाने वाला हैं मेने विश्वास नही किया बाद में एक फ़ोन आया तब मेने सोचा कि कोई दुर्घटना होती है तो देश में स्थिति बिगड़ जायेगी। मुझे जानकारी मिली कि राजस्थान पुलिस गुजरात पुलिस के साथ एक गैर जमानती वारंट मामले को लेकर आ रही हैं। उनके मुताबिक पिछले 10 साल पहले के मामले में सीबीआई उन्हें परेशान कर रही हैं। तोगड़िया ने बताया कि वे रात ढाई बजे कार्यालय से बाहर निकले, इस बीच उन्होंने राजस्थान की मुख्यमंत्री और ग्रहमंत्री से सम्पर्क किया तो मालूम हुआ कि उन्हें इसकी जानकारी नही हैं। बाद में आँटो से जाते समय मेरी तबियत बिगड़ी और में कब और कोनसे अस्पताल में पहुँच गया मुझे नही मालूम।

विहिप नेता तोगड़िया ने कहा कि में कोर्ट का सम्मान करता हूं में खुद कोर्ट में समर्पण करता। मेरे पास कोई सम्पत्ति नही हैं सिर्फ़ भगवान देव, किताबें और यह पहने कपड़े मेरी सम्पत्ति हैं में कोई अपराधी नही हूँ यह कहते कहते तोगड़िया एकाएक भावुक हो गये और रोने लगे।उन्होंने कहा मेरा जीवन रहे या ना रहे वे राम मंदिर, गोहत्या के खिलाफ कानून बनाने और अच्छे स्वास्थ्य के लिये अकेला लड़ता रहूंगा।
तोगड़िया ने कहा कि उन्हें राजस्थान और गुजरात की पुलिस से कोई शिकायत नही हैं लेकिन सेन्ट्रल आई.बी. किसी राजनैतिक दबाव में नही आये बल्कि कानून का पालन करे उन्हें न्यायालय में पूरा विश्वास हैं। उनकी आवाज दबाने और उनके एनकाउन्टर के पीछे कोन हैं? इस सबाल पर उन्होने कहा कि समय आने पर वे जल्द तथ्यों और सबूतों के साथ इसका खुलासा करेंगे।

read more
गुजरात

रूपाणी ने गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, उपमुख्यमन्त्री और 18 ने ली मंत्रीपद की शपथ पीएम मोदी, शाह रहे मौजूद

Vijay Rupani

रूपाणी ने गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, उपमुख्यमन्त्री और 18 ने ली मंत्रीपद की शपथ, पीएम मोदी, शाह रहे मौजूद

गांधीनगर – आज गुजरात में रूपाणी सरकार एक बार फ़िर से काबिज हो गई। राज्यपाल ओ.पी. कोहली ने गांधीनगर में आयोजित समारोह में विजय रूपाणी को गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई। इसके साथ ही उपमुख्यमन्त्री पद पर नितिन पटेल सहित 18 अन्य विधायकों को मंत्री के पद और गोपनीयता की शपथ भी राज्यपाल ने दिलाई, इस मौके पर खास तौर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, मौजूद थे इसके अलावा कई केन्द्रीय मंत्री बीजेपी नेता और सभी बीजेपी और एनडीए शासित राज्यों के मुख्यमंत्री भी इस शपथ ग्रहण समारोह के साक्षी बने।

जैसा कि विजय रूपाणी दूसरी बार गुजरात के मुख्यमंत्री बने हैं वही आज शपथ लेने वाले मंत्रिमंडल में बीजेपी ने जातिगत समीकरणो का विशेष ध्यान रखा हैं यही बजह हैं कि इसमें 6 पटेल, 6 ओबीसी सहित 3 आदिवासी वर्ग के विधायको को शामिल कर इन जातिवर्गो को कही ना कही साधने की कोशिश बीजेपी ने जरूर की हैं।

read more
गुजरात

गुजरात में फ़िर से रूपाणी सरकार ,मुख्यमंत्री के लिये उनके नाम पर लगी मुहर, पटेल बनेंगे डिप्टी सीएम

Vijay Rupani
  • गुजरात में फ़िर से रूपाणी सरकार,
  • मुख्यमंत्री के लिये उनके नाम पर लगी मुहर, पटेल बनेंगे डिप्टी सीएम

अहमदाबाद – गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ही हौंगे गुजरात के पर्यवेक्षक और केन्द्रीय मंत्री अरुण जेटली ने आज उनके नाम पर अंतिम मुहर लगा दी ।वही नितिन पटेल फ़िर से उपमुख्यमंत्री का दायित्व निभायेंगे।

बीजेपी के केन्द्रीय नेतृत्व ने गुजरात में मुख्यमंत्री के चयन और सरकार बनाने के मद्देनजर वित्तमंत्री अरुण जेटली और सरोज पांडे को पर्यवेक्षक बनाकर गुजरात भेजा था । आज उन्होंने विधायक दल की बैठक ली इसके उपरांत जेटली ने मीडिया से चर्चा में बताया कि बैठक में सर्वसम्मति से विजय रूपाणी को विधायक दल का नेता चुना गया और नितिन पटेल को उपनेता बनाया गया हैं जेटली ने बताया कि इस तरह विजय रूपाणी जो निवृत्तमान सरकार में मुख्यमंत्री थे फ़िर दौबारा वे गुजरात के मुख्यमंत्री पद का कार्यभार सम्हालेंगे। जेटली के मुताबिक रूपाणी अपने हिसाब से मंत्रीमंडल का गठन करेंगे । उन्होंने बताया नितिन पटेल गुजरात के उपमुख्यमन्त्री का पदभार सम्हालेंगे।

जैसा कि गुजरात के दौबारा मुख्यमंत्री का दायित्व निभाने के लिये तैयार विजय रूपाणी राजकोट पश्चिम से विधायक का चुनाव जीतकर विधानसभा में पहुंचे हैं विध्यार्थी परिषद से राजनीति शुरू करने वाले रूपाणी आरएसएस और जनसंघ के समय से सक्रिय रहे 2006 से 2012 तक राज्यसभा के सांसद रहे और गुजरात के बीजेपी अध्यक्ष भी बने। खास बात हैं बीजेपी ने जातिगत समीकरणों को नकारते हुए विजय रूपाणी को दौबारा मुख्यमंत्री पद का दायित्व सौपा हैं लेकिन 2019 लोकसभा चुनाव के मद्देनजर उनके सामने चुनोतियां भी काफ़ी रहेगी जैसा कि इस समय पूरी की पूरी 26 लोकसभा की सीटे बीजेपी के पास हैं क्या वे ऐसा फ़िर दौहरा पायेंगे ? यह सबाल बड़ा हैं।

इधर नये मंत्री मंडल के गठन पर निगाह डाले तो बीजेपी के 8 मंत्री चुनाव हारे है पर बीजेपी ने युवाओं को तरजीह दी और 15 युवा नये चेहरों को मैदान में उतारा था जिसमें से 11 ने जीत हासिल की ।अब देखना होगा कि रूपाणी अपनी सम्भावित चुनोतियों को देखते हुए अपने मंत्रिमंडल में किन चेहरों को मौका देते हैं ।

read more
गुजरात

गुजरात और हिमाचल में बीजेपी की जीत, मिला स्पष्ट बहुमत, कांग्रेस पिछड़ी

Election On

गुजरात और हिमाचल में बीजेपी की जीत, मिला स्पष्ट बहुमत, कांग्रेस पिछड़ी

अहमदाबाद ,शिमला – गुजरात और हिमाचल प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस को पछाड़ दिया है आज हुई मतगणना में बीजेपी ने गुजरात में रिकार्ड छटवीं बार सत्ता हासिल कर ली हैं। लेकिन पिछले चुनाव की तुलना में बीजेपी की सीटें घट गई हैं गुजरात की कुल 182 सीटों में से बीजेपी ने 99 सीटो पर सफ़लता प्राप्त की हैं तो कांग्रेस को 80 सीटे मिली हैं । कहा जा सकता हैं कि कांग्रेस और बीजेपी में कांटे का मुकाबला रहा। जबकि हिमाचल की कुल 68 सीटो में बीजेपी ने 44 तो कांग्रेस ने 21 सीटे जीती हैं । इस तरह दौनो प्रदेशों में बीजेपी को स्पष्ट बहुमत मिल गया हैं।

आज सुबह शुरू हुई मतगणना के पहले दो राउंड में कांग्रेस के पक्ष में रूझान आ रहे थे लेकिन कांग्रेस यह बड़त बनाये रखने में कामयाब नही रही और अन्तत: बीजेपी ने 99 विधानसभा सीटो पर जीत हासिल कर ली और गुजरात की सत्ता पर फ़िर से कब्जा जमा लिया जबकि कांग्रेस ने 80 विधानसभा सीटो पर ही सफ़लता अर्जित की और तीन सीटे अन्य के खाते में गई।

पिछले चुनाव की तुलना में बीजेपी को 16 सीटों का घाटा रहा पहले उसके पास कुल 182 में से 115 सीटें थी वही कांग्रेस जिसपर 61 सीटे थी उसने 19 सीटो का इजाफ़ा किया हैं ।जहां तक मत प्रतिशत की बात करे बीजेपी के मत प्रतिशत में एक अंक की बढोतरी हुई हैं और वह 49 फ़ीसदी हो गया वही है कांग्रेस का वोट परसन्टेज 43 फ़ीसदी रहा । इसके अलावा कांग्रेस सीटो में जरूर पीछे रह गई लेकिन बीजेपी के गढ में उसने सैंध लगाने का काम किया है यही बजह रही कि बीजेपी अपने 84 गढ में से 62 पर ही सफ़ल हो सकी । लेकिन कांग्रेस ने अपने 15 गढो़ में फ़िर जीत हासिल की हैं उन्हें छिटकने नही दिया ।देखा गया कि सेन्ट्रल गुजरात ,दक्षिण गुजरात , गुजरात उत्तर में बीजेपी ने बढत बनाई तो सौराष्ट्र कच्छ की अधिकांश विधानसभाओं में कांग्रेस ने जीत हासिल की।

खास बात रही कि पिछले 22 सालो से गुजरात में बीजेपी की सरकार हैं अब 2017 में छट्वीं बार उसने गुजरात की सत्ता प्राप्त कर नया इतिहास जरूर रच दिया हैं। हिमाचल प्रदेश में कुल 68 सीटों पर चुनाव हुए थे जिसमें से 44 पर बीजेपी ने और 21 सीटों पर कांग्रेस ने जीत हासिल की हैं और 3 विधानसभा सीटे अन्य के खाते में रही हैं यहां कांग्रेस सत्तासीन थी लेकिन बीजेपी ने यहां जीत हासिल कर कांग्रेस से सत्ता छीन ली लेकिन हिमाचल का इतिहास भी रहा हैं कि यहां सत्ता में रहने वाली पार्टी दुबारा सरकार नही बनाती।

read more
गुजरात

जातिवाद वंशवाद और तुष्टिकरण पर विकासवाद की जीत : शाह

Amit Shah Preparing For Election

जातिवाद वंशवाद और तुष्टिकरण पर विकासवाद की जीत : शाह

अहमदाबाद – बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में पार्टी की जीत को जातिवाद , वंशवाद और तुष्टिकरण पर विकासवाद की जीत बताया हैं उन्होंने कहा कि हिमाचल में हमने सत्ता हासिल की और गुजरात में जीत के साथ पार्टी ने वोट प्रतिशत में बढ़ोतरी की हैं शाह ने कहा कि इस जीत से बीजेपी की 2019 डगर सरल हो गई हैं।

बीजेपी अध्यक्ष शाह ने कहा कि कांग्रेस ने गुजरात में मुद्दों को भटकाने का काम किया इसी बजह से उसको हार मिली और उसके दिग्गज नेता पराजित हो गये, गुजरात की जनता ने कौमवाद को हराया और अब लगता हैं देश जातिवाद , वंशवाद और तुष्टिकरण की राजनीति से मुक्त हो रहा हैं । शाह ने कहा कि कांग्रेस ने प्रचार का स्तर गिराने का प्रयास किया वही उनके मुताबिक पाटीदार और जीएसटी का कोई प्रतिकूल असर बीजेपी के खिलाफ़ नही देखा गया । शाह ने कांग्रेस से कांटे की टक्कर को नकारते हुए कहा कि हमारा मत प्रतिशत करीब दो फ़ीसदी बड़ा हैं।

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि 2014 से पहले हमारी पार्टी की 6 राज्यों में सरकार थी लेकिन नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हमने 2014 का लोकसभा चुनाव जीता और आज बीजेपी की 14 राज्यों में सरकार हैं और एन डी ए के साथ 5 राज्यों को मिला दिया जाये तो देश के 19 राज्यों में हम सरकार में हैं । शाह में गुजरात और हिमाचल की जीत को करोंड़ो कार्यकर्ताओं की जीत बताते हुए कहा कि इन दो प्रान्तों में पार्टी की जीत से 2019 के लोकसभा चुनाव में जीत का मार्ग प्रशस्त हुआ हैं।

read more
गुजरात

हार्दिक के बीजेपी पर गम्भीर आरोप, बेईमानी और ईवीएम में टेम्परिन्ग कर गुजरात में बीजेपी ने जीता चुनाव

Hardik Patel
  • हार्दिक के बीजेपी पर गम्भीर आरोप,
  • बेईमानी और ईवीएम में टेम्परिन्ग कर गुजरात में बीजेपी ने जीता चुनाव

अहमदाबाद / पाटीदार आंदोलन के मुखिया हार्दिक पटेल ने कहा कि गुजरात में बीजेपी ने बेईमानी और गड़बड़ी करके सत्ता हासिल की हैं । हार्दिक ने सबाल किया कि जिन सीटो पर रीपोल हुआ वहा जीतने वाला केन्डीडेट हजारों वोटो से कैसे हार गया? हार्दिक पटेल का आरोप हैं कि ईवीएम में टेम्परिन्ग करके बीजेपी ने गुजरात में जीत हासिल की हैं। उन्होंने कहा यदि चुनाव ईमानदारी से होता तो बीजेपी हार जाती।

हार्दिक पटेल ने बीजेपी पर गम्भीर आरोप लगाते हुए कहा कि आधुनिक तकनीकि में आगे जापान इजराइल सहित दुनियां के कई देशों में आज ईवीएम की बजाय फ़िर वेलेड पेपर से चुनाव हो रहे हैं फ़िर भारत में क्यों नही हो सकते ।हार्दिक ने इसके खिलाफ़ कांग्रेस सहित सभी विपक्षी दलों से आवाज उठाने का आव्हान करते हुए कहा कि वे वेलेड पेपर से चुनाव कराने के लिये एकजुट हो अन्यथा आगामी चुनावों में शामिल होने से इंकार कर दें। पाटीदार आंदोलन के नेता ने कहा कि घटिया सोच और पैसा के बलबूते बीजेपी ने गुजरात चुनाव जीता है और ईवीएम में गड़बड़ी करने में अहमदाबाद की एक कंपनी ने उसका साथ दिया हैं। उन्होंने कहा मेने तीन दिन पहले ही इस गड़बड़ी की आशंका जाहिर कर दी थी और वही हुआ।

पटेल ने कहा कि सूरत की बराठा सीट के 1.50 लाख वोटरो में से 1.10 लाख मतदाता पाटीदार समाज से हैं वहां बेईमानी हुई इसी तरह राजकोट अहमदाबाद सहित कई जिलों में ईवीएम में छेड़खानी की गई ऐसी जानकारी मिली हैं । उन्होंने कहा स्वतंत्र भारत में सोच बन रही हैं कि हमने जिसे वोट दिया उसे मिला कि नही ? पर ऐसा हो नही रहा। हार्दिक पटेल ने मीडिया से कहा कि गुजरात में आरक्षण के साथ किसानों की खस्ता हालत, कर्ज माफ़ी बेरोजगारी सहित अन्य मुद्दों को लेकर उनका आंदोलन जारी रहेगा ,उन्होंने कहा हम पर अत्याचार हो या जेल जाना पड़े बीजेपी के खिलाफ़ जनहित में हमारी लड़ाई जारी रहेगी ।

read more
गुजरातदिल्ली

सभी एग्जिक्ट पोल बीजेपी के फ़ेवर में, उनके मुताबिक गुजरात और हिमाचल में बीजेपी सत्ता में

BJP and Congress Election

सभी एग्जिक्ट पोल बीजेपी के फ़ेवर में, उनके मुताबिक गुजरात और हिमाचल में बीजेपी सत्ता में

नई दिल्ली – सभी न्यूज चैनलो और एजेंसियों के एग्जिक्ट पोल के नतीजों में गुजरात और हिमाचल प्रदेश में बीजेपी सत्ता हासिल कर रही हैं यदि एग्जिक्ट पोल सही साबित होता है तो साफ़ हो जायेगा कि नरेन्द्र मोदी का जल्बा आज भी कायम है और बीजेपी ने गुजरात में सत्ता पर फ़िर कब्जा जमाया तो हिमाचल में कांग्रेस से सत्ता छीनने का बड़ा काम किया हैं।

एग्जिक्ट पोल सर्वे का औसत निकाले तो गुजरात में बीजेपी को 115 और कांग्रेस को 66 सीटें मिलने का अनुमान हैं वही हिमाचल प्रदेश में बीजेपी को 47 तो कांग्रेस के खाते में 20 सीटें आ रही हैं । यदि यह अनुमान सही साबित होते हैं तो 22 साल से गुजरात में सत्ता पर काबिज बीजेपी छठवीं दफ़ा फ़िर से सरकार बनायेगी ।वही हिमाचल में सातवीं बार होगा जब बीजेपी और कांग्रेस एक के बाद सत्ता संभालेंगी। गुजरात में कुल सीटें 182 है और जो पार्टी 92 सीटे हासिल करेगी वह बहुमत प्राप्त करेगी ।

वही राहुल गांधी की मेहनत ने वोट प्रतिशत तो बढ़ाया पर वह जीत में तब्दील नही हो सका । खास बात रही कि हार्दिक पटेल अल्पेश और जिग्नेश की तिकडी का जादू भी कांग्रेस को जीत नही दिलवा सका। खास बात हैं यदि एग्जिक्ट पोल सही साबित होते हैं तो गुजरात में छठीं बार सरकार बनायेगी।

read more
गुजरात

गुजरात चुनाव : दूसरे चरण में 68.70 फ़ीसदी मतदान हुआ

voting

गुजरात चुनाव : दूसरे चरण में 68.70 फ़ीसदी मतदान हुआ

अहमदाबाद– गुजरात में दूसरे और अंतिम चरण के मतदान में करीब 68.70 फ़ीसदी मतदान हुआ हैं छुट्पुट घटनाओं को छोड़कर मतदान शांतिपूर्ण तरीके से समाप्त हुआ, मतदान के प्रति लोगों में खासा उत्साह देखा गया और मतदान केन्द्रों पर सुबह से ही लम्बी लम्बी कतारें लगी रही । खास बात रही कि 2012 चुनाव की तुलना में इस बार करीब 2 प्रतिशत मतदान कम रहा ।

दूसरे चरण में गुजरात के 14 जिलों की 93 सीटों पर आज मतदान हुआ ।

read more
गुजरात

गुजरात में दूसरे चरण का मतदान 14 दिसम्बर को, 93 सीटो पर होगा मतदान

Election On

गुजरात में दूसरे चरण का मतदान 14 दिसम्बर को, 93 सीटो पर होगा मतदान

गांधीनगर – गुजरात में कल 14 दिसम्बर को विधानसभा चुनाव का दूसरे चरण का मतदान होगा। 93 सीटो पर होने वाले इस चुनाव में 851 प्रत्याशी मैदान में हैं। दूसरे चरण का यह मतदान 14 जिलों की सीटो पर होना हैं बताया जाता है इन 93 सीटो में से 53 पर पाटीदार और ओबीसी मतदाताओ के बाहुल्य होने से उनका प्रभाव है और यही इन विधानसभाओं की हार जीत तय करते हैं। फ़िलहाल इन 93 सीटो में से 52 पर बीजेपी 39 पर कांग्रेस और 2 पर अन्य का कब्जा हैं खास बात है ग्रामीण 45 सीटो में से 26 पर कांग्रेस और 26 पर बीजेपी और 48 शहरी क्षेत्र की सीटो में 35 पर बीजेपी और 13 पर कांग्रेस विधायक हैं। जिससे साफ़ हैं कि ग्रामीण इलाके पर कांग्रेस की पकड़ है तो बीजेपी शहरी क्षेत्र में ज्यादा प्रभाव रखती हैं।

जैसा कि गुजरात की कुल 182 विधानसभाओं में से 89 सीटो पर पहले चरण में 9 दिसम्बर को मतदान हो चुका हैं और बाकी 93 सीटो पर दूसरे चरण में 14 दिसम्बर को मतदान होगा, मतगणना 18 दिसम्बर को होगी।

read more